• Tue. Aug 16th, 2022

कविता

  • Home
  • VAISE TO TOO MERA SAAYA THA NAHI

VAISE TO TOO MERA SAAYA THA NAHI

वैसे तो तू मेरा साया था नहीं, पर तू मेरे लिए कभी पराया भी था नहीं,

शायर हूं मैं (नई शायरी)

(Written by Suman Vashisht Bharadwaj) मेरे दिल में तो वो था और उसकी हसरतों का साया था पर बहुत कमबख्त दिल था उसका जो खुदा तूने बनाया था जज्बात तो…

प्यार में तिरस्कार

अभी अभी तो आया हूं, अभी जाने की बात करते हो। मैं तुमसे बेपनाह प्यार करता हूं, तुम बार-बार मेरा तिरस्कार करते हो। इतना ना सोचो मेरे बारे में, मैं…

वो समुंदर की गहराई जैसा है

written by Suman Vashisht Bharadwaj ( उसकी खामोश आँखों में ) वो समुंद्र की गहराई जैसा है ! वो पलको के नीचे परछाई जैसा है ! मेरे एहसास को छूने…

मेरे एक अल्फाज की बेबसी

Written by Suman Vashisht Bharadwaj मेरे एक अल्फाज की बेबसी को वो मेरा पूरा अंदाज समझ बैठा कितना खुदगर्ज है वो कि मेरी एक नाकामी को अपनी जीत का आगाज़…

सच कीअधूरी कहानी

Written By Suman Vashisht Bhardwaj सच का अब कौन साथ देता है! झूठ के साथ हर कोई चल देता है!  सच की भी एक शान हुआ करती थी! उसकी अपनी…

मैं देश में बिखरा हुआ बस एक प्रचार हूंं

Written by Suman Vashisht Bharadwaj मैं देश की अधूरी सी कहानी का एक किरदार हूं। मैं देश में बिखरा हुआ बस एक प्रचार हूंं। हालांकि मैं लोकतंत्र का अटूट आधार…

मैं जिंदगी अपनी बहुत दूर छोड़ आया

written by Suman Vashisht Bharadwaj

तेरी यादों को यूँ ही हंस के

written by Suman Vashisht Bharadwaj तेरी यादों को यूँ ही हंस के दिल में दवा लेता हूं मैं! कभी रोना जो आए तो आंखों से आंसू बहा लेता हूं मैं!…

गीतों और कवितों के सुहाने सफर को पीछे छोड़ दुनिया को अलविदा कह गए नीरज

जाने-माने कवि और गीतकार गोपालदास ‘नीरज’ का 93 साल की उम्र में निधन हो गया. नीरज की कलम का जादू कविता, गीत, गजल सभी विधाओं में दिख. महफिलों और मंचों…