समाचार एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से बताया कि पठानकोट के धीरापुल के पास सेना के त्रिवेणी गेट पर सोमवार तड़के अग्रनेड ब्लास्ट हुआ। रिपोर्ट में कहा गया है कि जब इलाके से एक बारात निकल रही थी तब बाइक पर आए अज्ञात लोगों ने ग्रेनेड आर्मी स्टेशन के गेट के पास फेंका।

घटना के बाद पठानकोट के सभी इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया गया है. फिलहाल सीसीटीवी फुटेज की जांच कर हमलावरों की पहचान की जा रही है। सूत्रों ने बताया कि स्थानीय पुलिस अधिकारियों ने घटनास्थल से ग्रेनेड के कुछ हिस्से बरामद किए हैं। घटना की आगे की जांच की जा रही है।

बता दें कि पठानकोट भारत के सर्वाधिक महत्वपूर्ण ठिकानों में से एक है. यहां पर वायुसेना स्टेशन, सेना गोला-बारूद डिपो और दो बख्तरबंद ब्रिगेड और बख्तरबंद इकाइयां हैं। पांच साल पहले पठानकोट में भारतीय वायु सेना के अड्डे पर छह अत्यधिक सशस्त्र आतंकवादियों ने हमला किया था, जो पंजाब में कठुआ-गुरदासपुर सीमा के माध्यम से 30-31 दिसंबर, 2015 की रात को पाकिस्तान से भारत में प्रवेश कर गए थे।  

1 जनवरी 2016 को आतंकवादियों ने पंजाब के शीर्ष सिपाही सलविंदर सिंह की एसयूवी को हवाई अड्डे के आसपास के क्षेत्र में ले जाने के लिए लूट लिया। हमले 2 जनवरी को शुरू हुए थे, लेकिन सुरक्षा बलों ने थर्मल इमेजिंग की मदद से आतंकवादियों का पता लगा लिया था क्योंकि हमलावरों ने उन्हें रॉकेट से नीचे गिरा दिया था।