• Tue. Aug 16th, 2022

VO LADKI MERE MAN KA (वो लड़की मेरे मन का)

वो लड़की मेरे मन का उजला सा दर्पण लगती है
भीगती बारिश में जैसे छत पर कोई यौवन लगती है
सुनहरी सी धूप की वो पहली किरण लगती है
वीणा के तारों से टकराने वाली जैसे कोई धुन लगती है।

AAJ KEE KHABAR PURANI YAADEN

Latest news in politics, entertainment, bollywood, business sports and all types Memories .

Related Post