जहां दिवाली के दिन से लेकर अब तक तेल की कीमतों में 5 से 17 रुपये की कमी आ चुकी है, इसके साथ पिछले 8 दिनों से तेल के दाम में कोई बदलाव भी किया गया है। वहीं इसके बावजूद भी तेल की कीमतें दिल्ली वालों के लिए सिरदर्द बनी हुई है। दरअसल दिल्ली और उसके आसपास के शहरों में तेल की कीमतों में भारी अंतर दिख रहा है। 

बता दें कि दिल्ली सरकार ने अभी वैट में कोई कटौती नहीं की है। जबकि पड़ौसी राज्य उत्तर प्रदेश और हरियाणा में पेट्रोल डीजल काफी सस्ता हो गया है। जहां दिल्ली में शुक्रवार को भी पेट्रोल की कीमत 103.87 रुपये और डीजल की कीमत 86.67 रुपये रही है। तो वहीं दिल्ली से लगे नोएडा में पेट्रोल 95.51 रुपये और डीजल 87.01 रुपये रहा है। जो कि दिल्ली के रेट से  8.46 रुपये कम है । दूसरी तरफ हरियाणा के गुरुग्राम में पेट्रोल 95.90 रुपये है। हालांकि डीजल पर यह अंतर ज्यादा नहीं है।

कीमतों में कमी के बावजूद, देश के चार महानगरों और कई शहरों में पेट्रोल की दरें अभी भी ₹ 100 प्रति लीटर से ऊपर हैं। मेट्रो शहरों में, मुंबई में ईंधन की दरें सबसे ज्यादा हैं। मूल्य वर्धित कर या वैट के कारण राज्यों में दरें अलग-अलग हैं।

इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम जैसे राज्य द्वारा संचालित तेल रिफाइनर अंतरराष्ट्रीय बाजारों में कच्चे तेल की कीमतों और रुपये-डॉलर की विनिमय दरों को ध्यान में रखते हुए दैनिक आधार पर ईंधन दरों में संशोधन करते हैं। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कोई भी बदलाव हर दिन सुबह 6 बजे से लागू होता है।

आपको बता दें कि सोमवार को ब्रेंट 21 सेंट उछलकर 82.38 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया था, जबकि यूएस क्रूड 28 सेंट बढ़कर 81.07 डॉलर हो गया था।