• Fri. Oct 22nd, 2021

पाकिस्तान के मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने किया दावा, PAK का आर्थिक संकट पूर्व शासकों का उपहार?

पाकिस्तान के संघीय मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने कहा है कि पाकिस्तान के पूर्व शासकों ने अपने 10 साल के कुशासन के दौरान राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर दिया है। देश की मौजूदा आर्थिक स्थिति के लिए पिछली सरकारों को जिम्मेदार ठहराते हुए चौधरी फवाद हुसैन का मानना ​​है कि कर्ज चुकाने के लिए इस्तेमाल की जा रही राशि का इस्तेमाल कीमतों में बढ़ोतरी की भरपाई के लिए किया जा सकता है।

द न्यूज इंटरनेशनल की एक रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान के मंत्री ने कहा कि अगर सरकार ने 12 बिलियन डॉलर का कर्ज नहीं चुकाया होता, तो इस राशि का इस्तेमाल तेल और बिजली की कीमतों में सब्सिडी प्रदान करने के लिए किया जा सकता था।

उन्होंने आगे कहा कि देश का मौजूदा आर्थिक संकट आसिफ अली जरदारी और नवाज शरीफ के 10 साल के शासन का उपहार था, यह कहते हुए कि पूर्व शासकों ने अपने 10 वर्षों के कुशासन के दौरान राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था को बर्बाद नहीं किया था, उपभोक्ताओं को हो सकता था रिपोर्ट में कहा गया है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में वस्तुओं की बढ़ती कीमतों के प्रतिकूल प्रभावों से सुरक्षित है।

इससे पहले पाकिस्तान की अवामी नेशनल पार्टी (एएनपी) ने इमरान खान सरकार के खिलाफ भूख हड़ताल शिविर शुरू किया था और कहा था कि उन्होंने आम चुनाव से पहले देश के साथ किए गए वादों को पूरा नहीं किया है। पख्तून राष्ट्रवादी पार्टी के एक वरिष्ठ नेता गुलाम अहमद बिलौर ने कहा कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के शासन में खाद्य वस्तुओं, पेट्रोलियम उत्पादों और अन्य दैनिक उपयोग की वस्तुओं की कीमतें लगभग दोगुनी हो गई हैं।

पाकिस्तान सांख्यिकी ब्यूरो (पीबीएस) द्वारा प्रकाशित श्रम बल सर्वेक्षण (एलएफएस) के अनुसार, 2017-18 में पाकिस्तान की बेरोजगारी 5.8 प्रतिशत से बढ़कर 2018-19 में 6.9 प्रतिशत हो गई है। सत्ता में पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के पहले वर्ष में पुरुषों और महिलाओं दोनों के मामले में बेरोजगारी में वृद्धि देखी गई, पुरुष बेरोजगारी दर 5.1 प्रतिशत से बढ़कर 5.9 प्रतिशत और महिला बेरोजगारी दर 8.3 प्रतिशत से बढ़कर 8.3 प्रतिशत हो गई। 10 प्रतिशत, डॉन की सूचना दी।

(एएनआई से इनपुट्स)

AAJ KEE KHABAR PURANI YAADEN

Latest news in politics, entertainment, bollywood, business sports and all types Memories .