• Mon. Oct 25th, 2021

मध्य प्रदेश-उपचुनाव में बीजेपी- कांग्रेस के बीच जुबानी जंग तेज, सिंधिया ने कहा हां मैं कुत्ता हूं

मध्‍य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों पर होने जा रहे उपचुनाव के लिए प्रचार चरम पर है. वहीं उपचुनाव की तैयारियों के बीच नेता एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाते हुए जुबानी तीर चला रहे हैं. और भाषणबाजी में नेता शब्दों की मर्यादा भी भूलते जा रहे हैं. जहां बीजेपी और कांग्रेस ने पूरी ताकत झोंक दी है. दोनों ही पार्टियों के नेताओं में जुबानी जंग भी चल रही है. दोनों ही ओर से वार-पलटवार जारी है. बयानों का स्तर लगातार गिरता जा रहा है. बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शनिवार को एक चुनावी रैली में कांग्रेस नेता कमलनाथ पर उन्हें कुत्ता कहने का आरोप लगाया.

वहीं कमलनाथ को जवाब देते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि हां, मैं कुत्ता हैं, जो हमेशा अपने मालिकों के लिए वफादार रहता है. बीजेपी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि कमलनाथ जी यहां आते हैं…..अशोक नगर में आए हैं….इसपर जनता जवाब देती है नहीं आए हैं. ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि और वो कहते हैं कि मैं कुत्ता हूं. कमलनाथ जी सुन लीजिए. मैं कुत्ता हूं. क्योंकि मेरी मालिक मेरी जनता है. मैं कुत्ता हूं, क्योंकि कुत्ता अपने मालिक की रक्षा करता है.

साथ ही ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि कमलनाथ जी मैं कुत्ता हूं, क्योंकि अगर कोई भी व्यक्ति मेरे मालिक को ऊंगली दिखाए और मालिक के साथ भ्रष्टाचार और विनाशकारी नीति दिखाए तो कुत्ता काटेगा उसे मुझे गर्व है कि मैं अपनी जनता का कुत्ता हूं.

बता दें कि शुक्रवार को अशोकनगर में आयोजित सभा में कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने अपने भाषण में कुत्ते का जिक्र किया था. कृष्णम ने कहा था कि जिस तरह से एक पिल्ले की रक्षा के लिए कुत्ता आगे आ जाता है, उसी तरह से यहां के विधायक को कार्रवाई से बचाने के लिए कुत्ता आ गया था. इस सभा के मंच पर कमलनाथ भी उपस्थित थे। माना जा रहा है कि उनका इशारा सिंधिया की तरफ था। शाढौरा में आयोजित सभा में सिंधिया ने कमलनाथ पर इसी बात का पलटवार किया है.

आपको बता दें कि मार्च 2020 में कमलनाथ सरकार के गिरने की सबसे बड़ी वजह थी ज्योतिरादित्य सिंधिया का कांग्रेस छोड़ बीजेपी में जाना. सिंधिया के साथ ही उनके समर्थक विधायकों ने भी विधायकी से इस्तीफा दे दिया था और उसके बाद बीजेपी का दामन थाम लिया था. इस तरह विधानसभा की एक के बाद एक 25 सीटें खाली होती गईं और 3 सीटें विधायकों के निधन से रिक्त गईं. नतीजतन मध्य प्रदेश में 28 सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं. उपचुनाव के लिए वोटिंग 3 नवंबर को होगी.

AAJ KEE KHABAR PURANI YAADEN

Latest news in politics, entertainment, bollywood, business sports and all types Memories .