• Fri. Oct 22nd, 2021

कानपुर मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह कार्यक्रम, 66 गरीब कन्याओं की रीति रिवाज से हुई शादी

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह

कानपुर देहात में सोमवार को मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह कार्यक्रम का आयोजन किया. जिसमें 66 गरीब कन्याओं की रीति रिवाज के हिसाब से बड़े धूमधाम से शादी सम्पन्न कराई गई. मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना ऐतिहासिक होने के साथ ही गरीबों के लिए उपहार साबित हो रही हैं. कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में आये कानपुर देहात के जिलाधिकारी डॉ दिनेशचन्द्र सिंह और पुलिस अधीक्षक केशव कुमार चौधरी मौजूद रहे. जिलाधिकारी और एसपी के साथ जिले के आलाधिकारियों और जनप्रतिनिधियों ने सामूहिक विवाह में शिरकत कर वर-वधू को आशीर्वाद दिया.

तो वही समारोह में आये वर वधू भी खुश नजर आए. साथ ही इन लोगों ने बोला ऐसे कार्यक्रम बराबर होने चाहिये और ऐसे कार्यक्रमों से गरीब कन्याओं की शादी होने में कोई दिक्कते नहीं आएगी. वहीं इस कार्यक्रम में अल्पसंख्यक समुदाय के वर-वधुओं को रीति रिवाज के अनुसार निकाह कराया गया. मुस्लिम युवक-युवतियों ने भी यूपी की मौजूदा योगी सरकार की जमकर तारीफ की. साथ ही ऐसे कार्यक्रमों में दहेज की कुप्रथा और शादी में अधिक खर्चे पर लगाम लगने की आशा जाहिर की.

बता दें कि सोमवार को कानपुर देहात के ईको पार्क सहित जनपद के हर तहसील में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना का आयोजन किया गया था. मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह के आयोजन के लिये ईको पार्क , नगर पंचायत , नगर पालिका परिषद को भव्य तरीके से सजाया गया था. पांडाल भी रंग बिरंगी कलर्स में सजा था. वहीं बैंड बाजे वाले भी अपनी ड्रेस में शादी की खुशियों में तरह तरह की धुन बजा रहे थे. कार्यक्रम में कानपुर देहात के जिलाधिकारी डॉ दिनेश चंद्र सिंह और एसपी केशव कुमार चौधरी के साथ जिले के सभी अधिकारी और जनप्रतिनिधियों ने शादी समारोह की प्रत्येक रस्म में हिस्सा लिया और कन्यादान भी किया.

दरसअल मुख्यमंत्री सामुहिक विवाह समारोह में कल ईको पार्क और नगर पालिका पुखरायां सहित जनपद में 66 जोड़ो का बड़ी धूमधाम से शादी सम्पन्न कराई गई. जिसमे मुस्लिम जोड़े भी शामिल रहे. मुख्यमंत्री सामुहिक विवाह समारोह को जहां योगी सरकार की महत्वकांक्षी योजना के तौर में देखा रहा है, और इस योजना के लिए पर्याप्त बजट की व्यवस्था भी प्रदेश सरकार ने की. वहीं इस योजना में सामाजिक संस्था के साथ-साथ औद्योगिक इकाई भी बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रही हैं.

जहां सामुहिक विवाह समारोह में हिन्दू लड़का-लड़की की शादी कराने के लिये मैदान में मंडप लगाये गए थे, और विद्वान पंडितों द्वारा मंत्रोचार और रीति रिवाज से शादी रचाई, तो वहीं अल्पसंख्यक वर-वधू की शादी काजी ने मुस्लिम रीति रिवाज से कराई. इस शादी कार्यक्रम में गरीब वर्ग के लड़का लड़कियों ने अपनी पसंद के वर वधू चुने. मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह कार्यक्रम में सरकार के द्वारा कन्यादान के रूप में वधु के खाते में 51000 रुपये जमा कराए गए और कई उपहार भेट किये गए.

वहीं शादी करने आये लोग बहुत खुश नजर आये उनकी माने तो आज तक ऐसा कार्यक्रम नही हुआ, जिसमें गरीब लोगो की शादी कराई गई हो और साथ में दहेज भी दिया गया हो ऐसे कार्यक्रम बराबर होने से गरीबो की लड़कियों की शादी आराम से होगी. उन्होंने साथ ही सरकार को भी धन्यवाद दिया.

AAJ KEE KHABAR PURANI YAADEN

Latest news in politics, entertainment, bollywood, business sports and all types Memories .