जम्मू-कश्मीर के तीन दिवसीय दौरे पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज श्रीनगर में विभिन्न विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे। अगस्त 2019 में अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के बाद से केंद्र शासित प्रदेश की अपनी पहली यात्रा पर  शाह ने रविवार को उपराज्यपाल मनोज सिन्हा के साथ जम्मू-कश्मीर में मकवाल सीमा पर अग्रिम क्षेत्रों का दौरा किया।

गृह मंत्री ने जवानों और स्थानीय निवासियों से भी बातचीत की और जम्मू में कश्मीरी पंडितों, गुर्जर-बकरवाल समुदाय, पहाड़ी समुदाय और जम्मू-कश्मीर चैंबर ऑफ कॉमर्स के प्रतिनिधिमंडलों से मुलाकात की उनकी यात्रा जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों द्वारा नागरिकों की हत्या की कई घटनाओं के बीच हो रही है, जिससे घाटी में भय व्याप्त है।

शाह ने रविवार को श्रीनगर में एक आतंकवादी हमले में शहीद हुए युवा शिक्षक दीपक चंद के परिवार से मुलाकात की। शनिवार को, उन्होंने जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी हमलों में इस महीने मारे गए सैनिकों और नागरिकों के परिवारों से मुलाकात की।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दिल में बताते हुए रविवार को कहा कि केंद्र शासित प्रदेश में विकास का एक नया युग शुरू हो गया है और इस विकास को कोई नहीं रोक सकता।

जम्मू में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा जेके में शुरू हुए विकास के युग को कोई नहीं रोक सकता। यह मंदिरों की भूमि है, माता वैष्णो देवी की, प्रेम नाथ डोगरा की, श्यामा प्रसाद के बलिदान की भूमि है। हम उन लोगों को सफल नहीं होने देंगे, जो जम्मू-कश्मीर में शांति भंग करने की कोशिश कर रहे हैं।