आयकर विभाग के अधिकारियों ने बुधवार को अभिनेता सोनू सूद से जुड़ी कम से कम 6 संपत्तियों पर छापेमारी की. मुंबई और लखनऊ दो ऐसे शहर थे जहां अभिनेता से जुड़ी संपत्तियों पर छापे मारे गए थे. एक अचल संपत्ति का सौदा विभाग की जांच के दायरे में है.

सोनू सूद  जो COVID-19 महामारी के दौरान एक मसीहा के रूप में प्रवासी मजदूरों को उनके गृहनगर वापस पहुँचने में मदद करने की, तो वहीं COVID-19 रोगियों को दवाएँ खोजने और उनके लिए अस्पताल के बिस्तर की व्यवस्था करने में भी मदद की, और सब उन्होंने उस समय किया जब भारत में COVID-19 चरम पर था, साथ ही अभिनेता ने उन बच्चों के बारे में भी भावुकता से बात की है जो महामारी के कारण अनाथ हो गए हैं और सरकार से उनकी शिक्षा को प्रायोजित करने का आग्रह किया है.

बता दें कि उनकी संपत्तियों पर छापेमारी से उनके प्रशंसकों और समर्थकों में हड़कंप मच गया है. इंटरनेट पर सोनू का समर्थन करने वाली प्रतिक्रियाओं और मीम्स भी बाढ़ आ गए हैं.

इससे पहले, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार ने 48 वर्षीय अभिनेता को आम आदमी पार्टी सरकार के ‘देश का मेंटर्स’ कार्यक्रम का ब्रांड एंबेसडर घोषित किया था, जिसके तहत छात्रों को अपने करियर के विकल्प बनाने में मार्गदर्शन किया जाएगा.