• Tue. Jul 5th, 2022

राज्यपाल सत्यपाल मलिक की जुबां से भी छलक किसानों का दर्द,दिल्ली से खाली हाथ न लौटें किसान

नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों के विरोध-प्रदर्शन को लेकर मेघालय के सत्यपाल मलिक ने केंद्र सरकार पर उठाए सवाल हैं. उन्होंने कहा कि बिना जाने समझे ही किसानों का सत्यनाश हो रहा है. साथ ही उन्होंने कहा कि इस देश में किसान बुरे हाल में है. देश का किसान जब तक असंतुष्ट रहेगा, तब तक देश सर्वाइव नहीं करेगा.” मलिक ने एमएसपी को कानूनी मान्यता देने की भी वकालत की. उन्होंने कहा, मैं चाहता हूं ये मसला हल हो जाए और जहां तक जरूरत पड़ेगी वहां तक जाऊंगा.

बता दें कि यूपी के अपने गृह जनपद बागपत पहुंचे राज्यपाल सत्यपाल मलिक की जुबां पर भी किसानों का दर्द छलक पड़ा. दरअसल राज्यपाल मलिक बागपत के अमीनगर सराय कस्बे में एक अभिनंदन समारोह में पहुंचे थे. वहां लोगों को संबोधित करते हुए मलिक ने कहा कि किसानों के मसले पर उन्होंने पीएम और गृह मंत्री से भी बात की थी, मलिक उन्होंने किसानों को दिल्ली से खाली हाथ नहीं जाने देने और उन पर लाठीचार्ज नहीं कराने को कहा था.

साथ ही आगे मलिक ने कहा, राकेश टिकैत की गिरफ्तारी का शोर मचने पर रात में मैंने फोन करके उनकी गिरफ्तारी रुकवाई थी. उन्होंने कहा कि सिख सरदार किसी भी बात को 300 साल तक याद रखतें हैं. उन्होंने कहा, मिसेज गांधी ने ब्लू स्टार करने के बाद अपने फार्म हाउस पर महामृत्युंजय पाठ कराया था. अरूण नेहरू ने बताया था कि इंदिरा जानती थीं कि अकाल तख्त तोड़ा है ये मुझे नहीं छोड़ेंगे.

AAJ KEE KHABAR PURANI YAADEN

Latest news in politics, entertainment, bollywood, business sports and all types Memories .