• Fri. Oct 22nd, 2021

फ्रांस बना फुटबॉल का सिकंदर, 60 साल बाद वर्ल्ड कप में हुआ ऐसा खिताबी मुकाबला

रूस की राजधानी मॉस्को के लुज्निकी स्टेडियम में रविवार को खेले गये फीफा विश्वकप के 21 वें संस्करण के फ़ाइनल मुकाबले में फ़्रांस ने वर्ल्ड कप का खिताब अपने नाम कर लिया है. फ्रांस ने पहली बार विश्व कप खेल रही क्रोएशिया को 4-1 से मात दिया है. फ्रांस इस तरह दूसरी बार विश्व कप अपने नाम किया है. इससे पहले उसने 1998 में पहला विश्व कप जीता था.

60 साल का रिकॉर्ड

इस बार के फाइनल मुकाबले में 60 साल का रिकॉर्ड भी टूटा. 1958 के बाद पहली बार ऐसा हुआ कि फाइनल मुकाबले में 6 गोल हुए. 1958 में ब्राजील ने स्वीडन को 5-2 से हराया था. इसके बाद किसी भी फाइनल मुकाबले में इतने गोल नहीं हुए. अब फ्रांस-क्रोएशिया के हाई वोल्टेज मुकाबले में 6 गोल हुए.

201807152304186455_France-Defeats-Croatia-in-world-cup-Final-match_SECVPF

क्रोएशिया ने दिखाया दम

मैच का पहला गोल आत्मघाती गोल रहा. क्रोएशिया के मारियो मांडजुकिक अपने ही गोलपोस्ट में गेंद मार बैठे. इस गोल से फ्रांस ने 1-0 की बढ़त ले ली. यह गोल 18वें मिनट में हुआ. इवान पेरिसिक ने 28वें मिनट में गोल कर क्रोएशिया को 1-1 की बराबरी पर ला दिया था.

हालांकि, 38वें मिनट में फ्रांस को पेनल्टी मिली, जिसे उसके स्टार खिलाड़ी एंटोनी ग्रीजमैन ने गोल में तब्दील कर अपनी टीम को 2-1 से आगे कर दिया. पहला हाफ फ्रांस के पक्ष में 2-1 से समाप्त हुआ.

दूसरे हाफ में पॉल पोग्बा ने 59वें मिनट में बॉक्स के बाहर से गेंद को नेट में डाल फ्रांस को 3-1 की बढ़त दिला दी. छह मिनट बाद कीलियन एम्बाप्पे ने फ्रांस को 4-1 से आगे कर दिया.

क्रोएशिया के मांडजुकिक ने फ्रांस के गोलकीपर ह्यूगो लोरिस की गलती का फायदा उठाकर अपनी टीम के लिए दूसरा गोल किया. इसके बाद गोल नहीं हो सका और फ्रांस की टीम विश्व विजेता बनने में सफल रही.

फ्रांस ने 18वें मिनट में मारियो मांडजुकिक के आत्मघाती गोल से बढ़त बनाई, लेकिन इवान पेरिसिक ने 28वें मिनट में बराबरी का गोल दाग दिया. फ्रांस को हालांकि जल्द ही पेनल्टी मिली, जिसे एंटोनी ग्रीजमैन ने 38वें मिनट में गोल में बदला.

 अवॉर्ड

फीफा विश्वकप 2018 में खलेने वाले चुनिंदा खिलाड़ियों को अगल-अगल अवॉर्ड से नवाजा गया. ‘यंग प्लेयर ऑफ द वर्ल्ड कप’ के ख़िताब से फ्रांस के एमबापे को नवाजा गया. 19 साल के एमबापे ने अपनी फर्राटा स्पीड का जलवा दिखाते हुए इस वर्ल्ड कप में कुल 4 गोल दागे. वहीँ वर्ल्ड कप का दूसरा बड़ा अवॉर्ड ‘गोल्डन बूट’ इंग्लैंड के कप्तान हैरी केन को मिला, जिन्होंने इस टूर्नामेंट में कुल 6 गोल किए थे.

AAJ KEE KHABAR PURANI YAADEN

Latest news in politics, entertainment, bollywood, business sports and all types Memories .