Delhi NCR Air Pollution: दिल्ली-एनसीआर में लगातार बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए CAQM (कमीशन फॉर एयर क्‍वालिटी मॉनिटरिंग) ने  दिल्ली-एनसीआर में अगले आदेश तक सभी स्कूल, कॉलेज और शिक्षण संस्थानों को बंद करने के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ अगले आदेश तक ऑनलाइन क्लास की जाने की बात भी की गई है।

वहीं इसके अलावा दिल्ली में गैर जरूरी ट्रकों की एंट्री पर भी बैन लगाने का फैसला लिया गया है। दरअसल, प्रदूषण की गंभीरता को देखते हुए और उसे नियंत्रित करने के लिए वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग ने अगले आदेश जारी होने तक सभी निजी स्कूल, कॉलेज बंद करने के आदेश जारी कर दिए हैं।

मंगलवार को  प्रदूषण के हालातों देखते हुए दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, यूपी, उत्तराखंड और राजस्थान के साथ CAQM ने बैठक की थी, इसे के  बाद यह आदेश जारी किया गया हैं। बता दें कि इन सभी राज्य सरकारों को 22  नवंबर तक कम्प्लायंस रिपोर्ट पेश करने को कहा गया है।

वहीं इस सबके चलते CAQM ने कहा है कि 50 फीसदी सरकारी अधिकारियों को भी 21 नवंबर तक वर्क फ्रॉम होम करने की इजाजत दी जाए. इसके अलावा निजी कार्यालयों को भी इसे अपनाने की सलाह दी है।

साथ ही गाड़ियों से होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए दिल्ली में सारे ट्रकों की एंट्री पर 21 नवंबर तक रोक लगा दी गई है। इसमें सिर्फ जरूरी सामानों को ढोने वाले  ट्रकों को ही छूट मिली है।

बता दें कि है कि बीते दिन दिल्ली में वायु गुणवत्ता गंभीर श्रेणी में आ गई जिसके बाद दिल्ली सरकार ने उत्तरी राज्यों के साथ बैठक कर प्रदूषण से निपटने के लिए दिल्ली-एनसीआर में वर्क फ्रॉम होम नीति लागू करने के सुझाव दिए। इसके अलावा, सुप्रीम कोर्ट ने प्रदूषण मामले पर सुनवाई करते हुए लॉकडाउन लगाने का भी सुझाव दिया था।