जहां पहले यह अनुमान लगाया गया था कि भुवनेश्वर कुमार तीन भारतीय क्रिकेटरों के चोटिल होने के बाद ब्रिटेन में विराट कोहली की अगुवाई वाली भारतीय टीम में शामिल हो सकते हैं, लेकिन अब ऐसा नहीं लगता. कुमार जिन्होंने हाल के दिनों में चोटों के कारण क्रिकेट नहीं खेला है, उनको टेस्ट में भारत के लिए खेलना शुरू करने से पहले अपना समय लेने के लिए कहा गया है.

टीओआई की एक रिपोर्ट के अनुसार आगामी टी 20 विश्व कप के बाद पेसर के टेस्ट भविष्य पर फैसला किया जाएगा क्योंकि इससे उन्हें 3-4 प्रथम श्रेणी के खेल खेलने का समय मिलेगा. बीसीसीआई उनके साथ धक्का-मुक्की नहीं करना चाहता. बोर्ड ने भुवनेश्वर के साथ चर्चा की थी. यह निर्णय लिया गया है कि उन्हें टी 20 विश्व कप से पहले टेस्ट क्रिकेट खेलने के लिए प्रेरित नहीं किया जाएगा. उन्हें पहले तीन-चार प्रथम श्रेणी मैच खेलना है. अगर वह अचानक टेस्ट क्रिकेट खेलना शुरू कर देता है, तो उसके टूटने की संभावना है, ”बीसीसीआई के एक शीर्ष अधिकारी ने टीओआई को बताया.

रिपोर्ट में यह भी संकेत दिया गया है कि इस साल के अंत में दक्षिण अफ्रीका के दौरे के लिए उनके नाम पर विचार किया जा सकता है. भारतीय तेज गेंदबाज इस समय शिखर धवन की अगुवाई वाली टीम के साथ श्रीलंका में हैं. वह टीम के उपकप्तान हैं. इस बीच सूर्यकुमार यादव और पृथ्वी शॉ जयंत यादव के साथ चोट के प्रतिस्थापन के रूप में यूके के लिए रवाना होंगे. कुमार और शॉ श्रीलंका में हैं, यादव भारत में हैं. रिपोर्ट बताती है कि उन्हें यूके की यात्रा कराने के लिए लॉजिस्टिक पक्ष पर काम किया जा रहा है. बता दें कि भारत इंग्लैंड के खिलाफ पहला टेस्ट 4 अगस्त को ट्रेंट ब्रिज में खेलेगा।