• Sun. Aug 14th, 2022

बैंकों में दो दिन की हड़ताल : 10 लाख बैंक कर्मी हड़ताल में होंगे शामिल

देश में नौ विभिन्न बैंक यूनियनों के एकजुट संगठन द यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक (यूएफबीयू) ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों निजीकरण तथा पीछे ले जाने वाले’ बैंकिंग सुधारों के खिलाफ 15 से 16 मार्च को दो-दिवसीय देशव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है. इस हड़ताल में 10 लाख से अधिक बैंक कर्मी तथा अधिकारी शामिल होंगे.

दरसअल यूएफबीयू द्वारा आहूत की गई इस हड़ताल में बैंक यूनियनों – ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडरेशन (AIBOC), ऑल इंडिया बैंक एम्प्लॉयीज़ एसोसिएशन (AIBEA), नेशनल कन्फेडरेशन ऑफ बैंक एम्प्लॉयीज़ (NCBE), बैंक एम्प्लॉयीज़ फेडरेशन ऑफ इंडिया (BEFI), इंडियन नेशनल बैंक एम्प्लॉयीज़ फेडरेशन (INBEF), इंडियन नेशनल बैंक ऑफिसर्स कांग्रेस (INBOC), नेशनल ऑर्गेनाइज़ेशन ऑफ बैंक ऑफिसर्स (NOBO), नेशनल ऑर्गेनाइज़ेशन ऑफ बैंक वर्कर्स (NOBW) के सदस्य शामिल होंगे.

वहीं इस हड़ताल के चलते बैंकों की शाखाओं में जमा, निकासी, चेक क्लीयरैन्स तथा लोन अप्रूवल जैसी सेवाएं प्रभावित होंगी. हालांकि ATM सेवाएं निर्बाध जारी रहने की संभावना है. बैंक 13 मार्च को माह का दूसरा शनिवार तथा 14 मार्च को रविवार होने के कारण बंद रहे थे, जिसकी वजह से नियमित बैंकिंग सेवाएं इस हड़ताल के चलते अब लगातार चार दिन तक बंद रहेंगी.

बता दें कि केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट घोषणाओं के दौरान सार्वजनिक क्षेत्र के दो बैंकों (IDBI बैंक के अलावा) निजीकरण की घोषणा की थी. विनिवेश के इस कदम से सरकार का इरादा 1.75 लाख करोड़ रुपये जुटाने का है. इसी घोषणा के विरुद्ध यह हड़ताल की गई है.

AAJ KEE KHABAR PURANI YAADEN

Latest news in politics, entertainment, bollywood, business sports and all types Memories .