• Thu. Jul 7th, 2022

अलीगढ़ मुस्लिमों ने ममता को सत्ता में बैठाया गिरायेगा भी मुसलमान, AMU छात्रों की मांग अनीश के कातिलों को हो फांसी

बंगाल में एक्टिविस्ट अनीश को तफ्तीश के नाम पर मकान की तीसरी मंजिल की छत से नीचे फेंककर पुलिसकर्मियों द्वारा की गई हत्या के बाद अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्रों द्वारा घटना के विरोध में आक्रोश जताते हुए विरोध प्रदर्शन किया हैं। जुम्मे की नमाज के बाद एएमयू छात्रों ने एक्टिविस्ट अनीश का पुलिसकर्मियों पर मर्डर करने का आरोप लगाते हुए प्रोटेस्ट मार्च निकाला। छात्रों ने बंगाल में हुई छात्र एक्टिविस्ट की हत्या को लेकर एएमयू कैंपस के डंक पॉइंट से विरोध प्रदर्शन शुरू किया गया।

इस दौरान एएमयू कैंपस में जमकर नारेबाजी करते हुए हाथों में स्लोगन लिखे हुए बैनर लेकर नारेबाजी की गई और उसके लिए न्याय की अपील करते हुए बाबा सैयद गेट तक प्रोटेस्ट मार्च निकाला गया। इस दौरान प्रोक्‍टोरियल टीम के अधिकारी चौकन्‍ना रहे। एएमयू बंगाली स्‍टूडेंटस वेलफेयर ट्रस्‍ट संघ के बैनर तले छात्रों का कहना है मृतक के परिजन का आरोप है कि 18 फरवरी को घटना की रात 4 वर्दीधारी पुलिस कर्मी लोगों ने अनीश खान को उनके घर की तीसरी मंजिल पर ले गए ओर तीसरी मंजिल की छत से धक्का दे दिया। बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को चेतावनी दी और कहा मुसलमान अगर सत्ता पर काबिज करा सकता है तो सत्ता से बेदखल भी करना जानता है जो हाल कांग्रेस का किया वहीं हाल मुसलमान ममता बनर्जी का करेगा।

जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ में पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिले के आमटा निवासी एक्टिविस्ट अनीश खान की वर्दीधारी चार पुलिसकर्मियों द्वारा उसके घर पर पहुचकर पूछताछ की गई।पूछताछ के दौरान चारों वर्दीधारी पुलिसकर्मियों तीसरी मंजिल पर ले जाकर तीसरी मंजिल की छत से नीचे फेंक कर हुई निर्मम हत्या के विरोध में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्रों द्वारा प्रोटेस्ट मार्च निकालते हुए न्याय की अपील की गई।

एएमयू छात्र जियाउल इस्लाम ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला बोलते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी खुद अपने आप को मुसलमानों का मसीहा बताती है। जिसको आरएसएस वाले मुमताज बानो कहते हैं। लेकिन बंगाल में मुसलमानों को लेकर सबसे कम रिप्रेजेंटेशन ममता बनर्जी द्वारा किया जा रहा है। वेस्ट बंगाल में म्युनिसिपल इलेक्शन में करीब 30 प्रतिशत मुस्लिम मतदाता हैं। जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में मुसलमानों की आबादी बड़ी तादाद में है। लेकिन म्युनिसिपल और पंचायत चुनाव में केवल 8% मुसलमान लोगों को ममता बनर्जी टिकट देती हैं। उनकी मांग है कि एक्टिविस्ट अनीश खान की जो बंगाल में हत्या हुई है उसकी ज्यूडिशियल इंक्वायरी जांच होनी चाहिए है। छात्रों ने कहा न सीबीआई जांच चाहिए ना सीआईडी जा चाहिए।

इसके साथ ही छात्रों ने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को चेतावनी दी और कहा अगर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सोच रही है कि अगर मुसलमानों पर जुल्म करके वह सरकार में हैं, तो उनकी बहुत बड़ी गलतफहमी है अगर उन्हें मुसलमान सत्ता में काबिज कर सकता है तो सत्ता से बेदखल भी कर सकता है। और मुसलमानों ने जो हाल कांग्रेस का किया था। वही हाल ममता बनर्जी का भी होगा।

AAJ KEE KHABAR PURANI YAADEN

Latest news in politics, entertainment, bollywood, business sports and all types Memories .