• Mon. Oct 25th, 2021

अलीगढ़ विधायकों की दबंगई,गुंडों की पैरवी कर आरोपी को छुड़ा ले गए थाने से,इंस्पेक्टर लाइन हाजिर

अलीगढ़ में भाजपा विधायकों की दबंगई फिर एक बार सामने आई है. जहां भाजपा के तीन विधायक संजीव राजा, अनिल पाराशर और रविंद्र पाल सिंह पुलिस से मारपीट के आरोपीयों को थाने से छुड़ा ले गए. हैरानी की बात यह है कि वह पीड़ित ब्यक्ति व सब इंस्पेक्टर द्वारा दी गई तहरीर भी अपने साथ ले गए. मामला जब मीडिया के संज्ञान में आया तो आनन-फानन में पीड़ित सब इंस्पेक्टर की तहरीर पर आरोपियों के खिलाफ थाना गांधी पार्क में मामला दर्ज कर लिया गया. एसएसपी अलीगढ़ ने लापरवाही बरतने पर गांधी पार्क इंस्पेक्टर मणिकांत शर्मा को लाइन हाजिर कर दिया है. वहीं विधायको का थाने से आरोपियों को ले जाते हुए वीडियो भी सामने आया है.

दरअसल अलीगढ़ के गांधी पार्क थाना क्षेत्र में मुखिया जी वाली धर्मशाला में कल रात शादी की सालगिरह के कार्यक्रम में खाने को लेकर दो पक्षों में विवाद हो गया. विवाद इतना बढ़ा कि दोनों पक्षों में जमकर मारपीट हुई. इनमें से एक पक्ष मनीष व् अवधेश ने शराब के नशे में दूसरे पक्ष वीरेंद्र पर हमला बोल दिया. पीड़ित वीरेंद्र ने 112 नंबर पर कॉल की तो मौके पर लेपर्ड पहुंच गई. दबंग आरोपियों मनीष और उसके बाकी साथियों ने लेपर्ड कर्मियों के साथ मारपीट कर दी. इसके बाद थाने से नौरंगाबाद चौकी इंचार्ज संजीव कुमार मौर्य घटनास्थल पर पहुंचे. लेकिन हैरत की बात देखिए कि उन आरोपियों ने सब इंस्पेक्टर के साथ भी मारपीट करते हुए गंदी गंदी गालियां दी. इस पर सब इंस्पेक्टर ने थाने से और फोर्स बुला लिया और आरोपियों को अपने साथ थाने ले गए.

वहीं थाने पर जब सब इंस्पेक्टर संजीव कुमार मौर्य दोनों के खिलाफ कार्यवाही की तैयारी कर रहे थे. तभी सीन में पहले शहर विधायक संजीव राजा की एंट्री होती है। बाद में कोल क्षेत्र से विधायक अनिल पाराशर व छर्रा के विधायक रविंद्र पाल सिंह भी थाने में रात करीब 12:00 बजे के बाद पहुंच गए. उन्होंने जमकर इंस्पेक्टर मणिकांत व सब इंस्पेक्टर संजीव कुमार मौर्य की क्लास ली और दोनों आरोपियों को फैसला करा कर रात को ही थाने से छुड़ा कर ले गए. मामला जब मीडिया की सुर्खियों में आया तब आनन-फानन में एसएसपी को भी सब इंस्पेक्टर संजीव कुमार की तहरीर पर मामला दर्ज करने के आदेश देने पड़े. यह मुकदमा पीड़ित सब इंस्पेक्टर की तहरीर पर दर्ज हुआ है. उधर एसएसपी ने कार्यवाही करते हुए लापरवाही बरतने पर इंस्पेक्टर गांधी पार्क मणिकांत शर्मा को लाइन हाजिर कर दिया है.

मामले पर एसएसपी मुनिराज जी ने बताया कि गांधी पार्क थाना क्षेत्र में लगभग 10:30 बजे के आसपास पुलिस को सूचना मिली की दो पक्षों में मारपीट हो गई है. पुलिस मौके पर पहुंची तो वहां भीड़ देखकर थाने  से और फोर्स पहुंच गया। कुछ लोगों ने पुलिस के साथ मारपीट करने की भी कोशिश की. बाद में दोनों आरोपियों को जब थाने ले जाया गया हिरासत में तो माननीय विधायक गण थाने पहुंच गए थे. उन्होंने पीड़ित पक्ष और आरोपियों के बीच में राजीनामा करा दिया. बाद में चौकी इंचार्ज ने हमें बताया कि गिरफ्तारी करते समय उन लोगों ने हमारे साथ मारपीट की है. इस पर हमने तत्काल मामला दर्ज करने के आदेश दे दिए.

तो वहीं विधायक अनिल पाराशर से मामले में बातचीत की गई तो उन्होंने बताया रात 12  बजे करीब एक ही  साड़ुओं में झगड़ा हो गया था. झगडे को निपटाने में पुलिस की भूमिका सही नहीं लगी.  वहां पहले से विधायक संजीव राजा मौजूद थे। उसके बाद जब मामला नहीं निपटा तो हम पहुंचे और दोनों पक्षों में समझौता करा कर ले आये. पता नहीं फिर क्या हुआ। दरोगा संजीव की भूमिका सही नहीं थी.

AAJ KEE KHABAR PURANI YAADEN

Latest news in politics, entertainment, bollywood, business sports and all types Memories .