• Mon. Oct 18th, 2021

अलीगढ़-विधायक की SSP को चेतावनी,अपनी पुलिस को सुधार लो वरना हम सुधार देंगे

विधायक की एसएसपी को खुली चेतावनी

अलीगढ़ के थाना बन्नादेवी इलाके में एक पुलिस कर्मी द्वारा भाजपा कार्यकर्ताओं को रोककर उससे बाइक के कागज मांगना भारी पड़ गया। भाजपा के शहर विधायक संजीव राजा अपने कार्यकर्ताओं के साथ थाना बन्नादेवी पहुंच गए। जहां कार्यकर्ताओं ने काफी देर तक थाने का घेराव कर जमकर हंगामा काटा। कार्यकर्ताओं का आरोप था। कि पुलिसकर्मी द्वारा छात्र व भाजपा कार्यकर्ता के साथ बदसलूकी की गई है। पुलिसकर्मी को तत्काल बर्खास्त कर देना चाहिए। इस दौरान भाजपा विधायक संजीव राजा ने पुलिस को खुली चुनौती देते हुए देख लेने की धमकी दी है।

दरअसल पूरा मामला थाना बन्नादेवी क्षेत्र के महावीर गंज का है। जहां पुलिस के कॉन्स्टेबल ने भाजपा के बूथ अध्यक्ष तनिष्क कुमार की गाड़ी के कागजात मांगे। कागजात न होने पर कॉन्स्टेबल ने भाजपा नेता तनिष्क कुमार के साथ अभद्रता कर डाली। जबकि भाजपा नेता ने अपना परिचय देते हुए विधायक व भाजपा नेता संजय गोयल से बात कराने को कहा लेकिन कॉन्स्टेबल ने एक न सुनी और अभद्रता करते हुए उसे थाने ले आया। वहीं जब इस बात की जानकारी भाजपा के वरिष्ठ नेताओं सहित शहर विधायक संजीव राजा को हुई तो वह भी अपने दल बल के साथ थाने पहुंच गए। जहां कार्यकर्ताओं ने काफी देर तक थाने का घेराव करते हुए नारेबाजी की। इतना ही नहीं कार्यकर्ताओं ने पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे भी लगाए।

वहीं इस दौरान भाजपा विधायक संजीव राजा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि पुलिस के द्वारा जब भाजपा के कार्यकर्ता के साथ यह व्यवहार किया गया है। तो आम जनता के साथ क्या किया जाता होगा। कभी-कभी कुछ घटनाएं अच्छे संकेत दे जाती है। इस घटना में हमने यही अच्छाई देखी है। कि आने वाले समय में पुलिस बल को चेतावनी देने का भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को मौका मिला है। मैं आज इस घटना के माध्यम से वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अलीगढ़ को स्पष्ट रूप से बताना चाहता हूं कि वो अपने पुलिसकर्मियों को सचेत कर ले संभाल ले अन्यथा भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता कमजोर नहीं है उन्हें संभाल लेंगे।

बता दें कि भाजपा का युवा कार्यकर्ता छात्र देर रात करीब 12:00 बजे मोटरसाइकिल से अपने दोस्त के यहां पढ़ने के लिए जा रहा था। उसी दौरान मसूदाबाद चौराहे पर चेकिंग कर रहे दरोगा कमलेश कुमार के साथ ड्यूटी दे रहे कॉन्स्टेबल के द्वारा छात्र को रोकते हुए गाड़ी के कागजात मांगे गए। जबकि दो बाइक पर तीन छात्र सवार थे। जिसके बाद दरोगा कमलेश कुमार छात्रों की गाड़ी सीज करने की बात कहते हुए थाना बन्नादेवी ले गए। वहीं छात्र ने अपने आप को भाजपा का कार्यकर्ता बताते हुए भाजपा के मंडल अध्यक्ष संजय से फोन पर बात करने को कहा जिसके बाद दरोगा कमलेश कुमार किसी भी भाजपा कार्यकर्ता से बात करने के लिए साफ तौर से मना कर दिया।

तो वहीं भाजपा कार्यकर्ता एवं छात्रों ने थाना बन्नादेवी पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि थाने के अंदर लाकर छात्रों को करीब 15 से 20 पुलिस वालों ने घसीट घसीट कर मारा । करीब 15 से 20 मिनट तक पुलिस द्वारा की गई। मारपीट की सारी वीडियो रिकॉर्डिंग थाने के अंदर लगे सीसीटीवी कैमरा के अंदर मौजूद है। वही दरोगा कमलेश कुमार द्वारा एसएसआई को कहे गए अबअपशब्दों की ऑडियो रिकॉर्डिंग भी मौजूद है।

शहर विधानसभा सीट से भाजपा के विधायक संजीव राजा ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पद चिन्हों पर चलने वाले युवा कार्यकर्ता और पढ़ने वाले छात्र के साथ के बन्नादेवी पुलिस ने छात्र के साथ जिस बर्बरता परिचय दिया। साथ ही भाजपा विधायक ने कहा कि इस घटना के माध्यम से अलीगढ़ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को स्पष्ट रूप से बताना चाहते हैं। कि अलीगढ़ के एसएसपी मुनिराज जी अपने पुलिस बल को सचेत कर ले। और संभाल ले अन्यथा भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता कमजोर नहीं है। अपने पुलिस वालों को संभाल ले नहीं तो भाजपा के कार्यकर्ता अपने आप पुलिस वालों को सुधार देंगे।

AAJ KEE KHABAR PURANI YAADEN

Latest news in politics, entertainment, bollywood, business sports and all types Memories .