पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे को लेकर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक बार बीजेपी सरकार को  फिर घेरा है।  सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के द्वारान उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर एक्सप्रेस-वे की लागत कम करने के लिए गुणवत्ता से समझौता करने का आरोप लगाया. अखिलेश यादव ने गाजीपुर जिला प्रशासन द्वारा एक्सप्रेस-वे पर चलने की इजाजत नहीं दिए जाने पर मंगलवार को सपा द्वारा फूल चढ़ाकर सांकेतिक रूप से पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन का ऐलान भी किया.

यादव ने यह भी दावा किया कि भाजपा सपा से पांच साल पीछे थी क्योंकि सपा शासन के दौरान, लड़ाकू जेट आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर उतरे थे और अब इसी तरह की कवायद पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर की जाएगी।

सोमवार को लखनऊ में मीडिया से बात करते हुए, यादव ने कहा हमारे वरिष्ठ नेताओं ने गाजीपुर के जिलाधिकारी से मुलाकात की लेकिन हमारे कार्यक्रम के लिए अभी भी अनुमति नहीं दी गई है। ऐसे में मंगलवार को फूल चढ़ाकर ‘समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस वे’ का सांकेतिक उदघाटन करूंगा. सुल्तानपुर में समाजवादी पार्टी के नेताओं के घरों के बाहर पहले से ही पुलिस की तैनाती है।

उन्होंने आगे कहा बीजेपी ने पिछले साढ़े चार साल में अपना खुद का कुछ भी ऐसा नहीं किया है जिसका उद्घाटन वे कर सकते थे,  समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का काम सपा के शासन काल में शुरू हुआ था। अब मुझे पता चल रहा है कि बीजेपी एक्सप्रेस-वे पर फाइटर जेट उतारकर सपा की नकल करने की कोशिश कर रही है. हमने पांच साल पहले आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर ऐसा किया था और एक मिसाल कायम की थी। भाजपा हमसे पांच साल पीछे है।

गाजीपुर जिला प्रशासन ने यादव की विजय रथ यात्रा की अनुमति देने से इनकार कर दिया है, जो 16 नवंबर से शहर से आजमगढ़ के लिए निर्धारित थी क्योंकि पीएम नरेंद्र मोदी उसी दिन पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का उद्घाटन करने के लिए राज्य का दौरा करने वाले हैं।

गाजीपुर के जिलाधिकारी एमपी सिंह के आदेश के अनुसार सुरक्षा कारणों से 16 नवंबर को पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर यातायात बंद रहेगा. डीएम ने समाजवादी पार्टी के नेताओं को 17 नवंबर या किसी अन्य पसंदीदा दिन रथ यात्रा को पुनर्निर्धारित करने के लिए कहा है। यादव के साथ एसबीएसपी प्रमुख ओम प्रकाश राजभर के रथ यात्रा पर मंच साझा करने की उम्मीद थी।