अलीगढ़ पहुंचे करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सूरजपाल ने AMU के स्टूडेंट यूनियन हॉल में लगी जिन्ना की तस्वीर को लेकर कहा कि अलीगढ़ सांसद का तो पता नहीं लेकिन जिन्ना की तस्वीर अगर AMU में लग रही है, तो उसको करणी सेना हटाएगी.

करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सूरजपाल ने आज अलीगढ़ में जिला कार्य समिति की एक बैठक में भाग लिया. मीडिया से बात करते हुए सूरज पाल ने AMU से जिन्ना की तस्वीर हटाने के मुद्दे पर कहा की हम देश के राष्ट्रपति से और उत्तर प्रदेश के महामहिम राज्यपाल महोदय से इस पर कार्यवाही करने की मांग करते हैं.

क्योंकि जिन्ना के बाप की जमीन नहीं है अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी. यह जमीन राजा महेंद्र प्रताप सिंह के परिवार की जमीन है, जिन्होंने यहां पर एएमयू बनाने के लिए जमीन दी.  सांसद का तो पता नहीं जिन्ना की अगर तस्वीर वहां पर लग रही है तो उसे करणी सेना वहां रहने नहीं देगी. जो राजनीतिक लोग हैं जो चुनाव जीतकर आते हैं और जनता के मुद्दों से भटकते हैं करणी सेना उनको काम करने का तरीका सिखाएगी। करणी सेना 36 बिरादरी का संगठन है. अनेकों अनेक जातियों के लोग हमारे साथ हैं.

हम जात बिरादरी में विश्वास नहीं रखते हम राष्ट्रभक्ति की बात करते हैं. अगर मायावती और मुलायम सिंह को आज ब्राह्मण याद आ रहे हैं तो हम को हंसी आ रही है. मैं समझता हूं कि उनको कुर्सी के अलावा कुछ नहीं दिखता. जब तिलक तराजू और तलवार का नारा देते थे जब यह मीम और भीम की राजनीति करते थे अब कहां गए। चाहे कोई भी हो. करनी सेना उसके बारे में समय आने पर जल्दी बहुत बड़ा निर्णय करने वाली है. मैं उत्तर प्रदेश के प्रत्येक जिले में जाकर पदाधिकारियों की मीटिंग ले रहा हूं.

हम लोग गैर राजनीतिक संगठन है. इस बारे में प्रदेश के मुख्यमंत्री से मिलेंगे और जो समस्याएं हैं इनका समाधान नहीं हुआ है और उनके समाधान के लिए अनुरोध करेंगे.