गाजियाबाद पुलिस ने ट्विटर को अब तीसरा नोटिस भेजा है, इस बार भारत में माइक्रोब्लॉगिंग साइट के पूर्व शिकायत अधिकारी धर्मेंद्र चतुर को गाजियाबाद हमला वीडियो मामले में फटकार लगाई है. चतुर को सीआरपीसी की धारा 41ए के तहत नोटिस जारी किया गया है, जिसे पुलिस के सामने पेश होने और बयान दर्ज करने को कहा गया है. साथ ही प्राथमिकी में नामजद कांग्रेस के सलमान निजामी, मस्कूर उस्मानी, शमा मोहम्मद को भी नोटिस भेजे गए हैं.

बता दें कि बुजुर्ग मुस्लिम व्यक्ति के हमले की वीडियो क्लिप का हवाला देते हुए आरोप लगाया गया कि उसे कुछ लोगों ने पीटा और ‘जय श्री राम’ का नारा लगाने के लिए भी कहा था,  हालांकि पुलिस ने घटना में किसी भी सांप्रदायिक कोण से इनकार किया और दावा किया कि वीडियो को सामाजिक अशांति पैदा करने के लिए साझा किया गया था.

वहीं हाल ही में गाजियाबाद पुलिस ने ट्विटर इंडिया के एमडी मनीष माहेश्वरी को बुजुर्ग मुस्लिम व्यक्ति के आपत्तिजनक हमले के वीडियो की जांच के लिए तलब किया था. गाजियाबाद पुलिस ने 15 जून को ट्विटर इंक, ट्विटर कम्युनिकेशंस इंडिया, समाचार वेबसाइट द वायर, पत्रकार मोहम्मद जुबैर और राणा अय्यूब, कांग्रेस के सलमान निजामी, मस्कूर उस्मानी, शमा मोहम्मद और लेखक सबा नकवी के खिलाफ क्लिप साझा करने के लिए प्राथमिकी दर्ज की थी।

बता दें कि पिछले हफ्ते, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में ट्विटर के भारत कार्यालय के वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ सोशल मीडिया दिग्गज द्वारा देश का विकृत नक्शा लगाने को लेकर दो प्राथमिकी दर्ज की गईं.