उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के नरोरा क्षेत्र में शनिवार सुबह लापता हुई एक महिला शिक्षिका गंगा तट पर मृत मिली. महिला के भाई ने आरोप लगाया कि उसके बच्चे नहीं होने और उसके पति के विवाहेतर संबंध का विरोध करने के कारण उसकी हत्या की गई. इस बीच महिला के परिवार ने इस संबंध में शिकायत दर्ज करायी है.

बता दें कि मृतक शिक्षिका की पहचान शशि प्रभा के रूप में हुई है. पुलिस ने कहा कि वे पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं और संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज करेंगे. वहीं पीएलजीसी कॉलोनी निवासी 36 वर्षीय पीड़िता जयरामपुर बांगर के राजकीय इंटर कॉलेज में सहायक शिक्षक के पद पर कार्यरत थी.  उनकी शादी डॉक्टर राहुल गौतम से हुई थी.  शनिवार को महिला अपने घर से लापता हो गई थी.  गौतम ने बाद में अपनी ससुराल और पुलिस को अपनी लापता पत्नी के बारे में सूचित किया.  महिला के परिजन नरोरा पहुंचे और गौतम को लेकर उसकी तलाश करने लगे.

उन्होंने इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों को भी खंगाला लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। रविवार की सुबह पुलिस को एक शव के नरोरा में गंगा बैराज से गुजरने की जानकारी मिली. तलाशी लेने पर पुलिस को शव नदी के किनारे दयालूबाबा आश्रम के पास मिला.  डीएम ने डॉक्टरों के पैनल से पोस्टमार्टम के आदेश दिए हैं.

वहीं प्रभा के भाई और मैनपुरी जिले के निवासी योगेंद्र सिंह ने कहा, उनकी बहन की शादी 2012 में मेरठ निवासी डॉक्टर गौतम से हुई थी. उन्होंने आरोप लगाया कि शादी के बाद उनकी बहन को प्रताड़ित किया जा रहा है. योगेंद्र ने आरोप लगाया कि उसके बहनोई ने प्रभा की हत्या कर दी क्योंकि उसने उसके विवाहेतर संबंध का विरोध किया था.  पुलिस के मुताबिक डॉक्टर गौतम को तीन दिन पहले दिल का दौरा पड़ा था और उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल गई थी. प्रभा के पति डिबाई के एक सरकारी अस्पताल में डॉक्टर हैं।