मुंबई और उसके आसपास के इलाकों में दक्षिण-पश्चिम मानसून ने दस्तक दे दी है. पहले ही दिन भारी बारिश से देश की आर्थिक राजधानी और उसके उपनगरों में कई स्थानों पर पानी भर गया, जिससे सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ और सड़क याातायात के साथ ही लोकल ट्रेन सेवाएं भी बाधित हुयीं. इस बीच भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने मुंबई और पड़ोसी ठाणे, पालघर और रायगढ़ जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी कर कुछ स्थानों पर बहुत भारी बारिश की चेतावनी दी है. चेतावनी के मद्देनज़र कई जगहों पर एनडीआरएफ की टीमें भी तैनात की गई हैं.

वहीं मुंबई के मलाड वेस्ट में देर रात भारी बारिश के  कारण एक बड़ा हादसा हो गया, जिसमें 11 लोगों की मौत हो गई जबकि 18 लोग घायल हो गए हैं. मृतकों में 8 बच्चे शामिल हैं.दरअसल, मलाड वेस्ट के कलेक्टर कंपाउंड में एक चार मंजिला इमारत देर रात गिर गई. हादसे के बाद वहां  पहुंची रेसक्यू टीम ने महिलाओं और बच्चों समेत 18 लोगों को बचा लिया, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. हादसे के बाद इसके पास की दो और जर्जर इमारत को अहतियातन गिरा दिया गया है. फिलहाल वहां रेसक्यू ऑपरेशन जारी है.रात 11 बजे के करीब मालाड के मालवणी में एक मंजिला मकान गिर गया था.  हादसा न्यू कलेक्टर कंपाउंड में 72 नम्बर प्लॉट पर हुआ.दमकलकर्मी अब भी मलबा हटाने में जुटे हैं.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने प्रशासन को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है कि बारिश के कारण जमा हुए पानी को जल्द से जल्द निकाला जाए और परिवहन व्यवस्था फिर से बहाल की जाए. ठाकरे ने मुंबई के नियंत्रण कक्षों के अलावा ठाणे, रायगढ़, रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग और पालघर के जिलाधिकारियों से बातचीत की। लगातार बारिश के कारण कई इलाकों में सामान्य जीवन प्रभावित हुआ है.