चक्रवात यास तूफान अगले कुछ ही घंटों में पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तटीय इलाकों से टकरा सकता है. फिलहाल ओडिशा में भद्रक जिले के धामरा में तेज हवाएं और भारी बारिश हो रही है. क्योंकि चक्रवात तूफान लैंडफॉल के करीब है. वहीं पश्चिम बंगाल के नार्थ 24 परगना में भी हवाओं के साथ बारिश का सिलसिला जारी है. इसके अलावा समुद्र का पानी दीघा शहर में प्रवेश कर चुका है. दोनों राज्य हाई अलर्ट पर हैं. पश्चिम बंगाल के नईहाटी और हालीशहर में कई घर तूफ़ान और तेज़ बारिश की वजह से तबाह हो गए हैं.

वहीं मौसम विभाग के अनुसार, बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान यास बालासोर के लगभग 50 किमी दक्षिण-दक्षिण पूर्व में स्थित है. दोपहर तक ये चक्रवाती तूफान एक अत्यंत गंभीर तूफान के रूप में धामरा के उत्तर और बालासोर के दक्षिण में उत्तर ओडिशा-पश्चिम बंगाल तटों को पार करेगा. इस दौरान 140 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी.

बता दें कि यास तूफ़ान के खतरे को देखते हुए एहतियात के तौर पर कोलकाता एयरपोर्ट बंद कर दिया गया है.कोलकाता एयरपोर्ट की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक एयरपोर्ट से 26 मई की सुबह 8.30 बजे से शाम 7.45 बजे तक सभी उड़ानें निलंबित रहेंगी. तो वहीं भुवनेश्वर का बीजू पटनायक इंटरनेशनल एयरपोर्ट और झारसुगुड़ा एयरपोर्ट मंगलवार रात 11 बजे बंद कर दिया गया और गुरुवार सुबह पांच बजे तक बंद रहेगा. चक्रवात के कारण आज दुर्गापुर और राउरकेला एयरपोर्ट पर भी सभी उड़ानें स्थगित रहेंगी. साथ ही रेलवे ने ओडिशा-बंगाल की सभी ट्रेनों को कैंसिल कर दिया है.

वहीं मौसम विभाग के मुताबिक इस चक्रवात का सबसे ज़्यादा असर तटीय ओडिशा और पश्चिम बंगाल में होगा. इसके अलावा तमिलनाडु, आंध्रप्रदेश, अंडमान-निकोबार द्वीप समूह में भी इसका प्रभाव दिखाई देने की आशंका है. इन राज्यों के अलावा झारखंड, केरल के तटवर्ती इलाक़े भी तूफ़ान यास से प्रभावित हो सकते हैं. असम, मेघालय, यूपी और बिहार के कई इलाक़ों में भी तूफ़ान की वजह से भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है.