राष्ट्रीय विमानन कंपनी एयर इंडिया के पैसेंजर सर्विस सिस्टम पर एक बड़ा साइबर अटैक हुआ है. जहां एयर इंडिया के अनुसार कंपनी की डेटा प्रोसेसर कंपनी सीता पैसेंजर सर्विस सिस्टम से चुनिंदा लोगों का डेटा लीक हुआ है. इस साइबर अटैक से दुनियाभर के 45 लाख यात्रियों का डेटे की सुरक्षा प्रभावित हुई है.

एयर इंडिया का कहना है कि 26 अगस्त, 2011 से 3 फरवरी 2021 के बीच यात्रियों का डेटा लीक हुआ है. इसमें जन्मतिथि, नाम, कांटैक्ट, पासपोर्ट की जानकारी, टिकट की जानकारी, स्टार एलायंस और एयर इंडिया के फ्लायर डेटा का पासवर्ड डेटा और क्रेडिट कार्ड संबंधी जानकारी शामिल हैं. एयर इंडिया को इसकी पहली सूचना 25 फरवरी 21 को मिली.

वहीं एयर इंडिया ने सफाई देते हुए कहा है कि यात्रियों के क्रेडिट कार्ड डेटा के साथ उनका सीवीवी नंबर या सीवीसी नंबर लीक नहीं हुआ है. साथ ही फ़्रीक्वेंट फ़्लायर्स के पासवर्ड का डेटा भी सुरक्षित है. एयर इंडिया ने जांच के आदेश दे दिए हैं. एयर इंडिया पैसेंजर्स डेटा को SITA PSS मैनेज करती है. साथ ही डेटा की सुरक्षा को लेकर तत्काल कदम उठाए गए हैं. डेटा लीक की इस घटना की जांच कराई जा रही है. इसके लिए बाहरी डेटा सिक्योरिटी विशेषज्ञ की मदद भी ली जा रही है. क्रेडिट कार्ड कंपनियों से ग्राहकों को पासवर्ड बदलने की सूचना भी देने को कहा गया है. एयर इंडिया के फ्रीक्वेंट फ्लायर्स पैसेंजर्स को पासवर्ड बदलने की सलाह दी गई है.