दिल्ली पुलिस ने कोरोना महामारी के बीच ऑक्सीजन की कालाबाजारी के आरोपी में नवनीत कालरा को गिरफ्तार कर लिया है.बता दें कि कुछ समय पहले कि गई छापेमारी के दौरान नवनीत कालरा के तीन रेस्त्रां ‘खान चाचा’, ‘नेगा जू’ और ‘टाउन हॉल’ से 524 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बरामद किए गए थे और ऐसा संदेह था कि वह अपने परिवार के साथ दिल्ली छोड़कर चला गया. ऑक्सीजन कंसंट्रेटर कोविड-19 के इलाज में महत्वपूर्ण चिकित्सकीय उपकरण हैं.

वहीं दिल्ली उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को कालरा को गिरफ्तारी से अंतरिम राहत देने से इनकार कर दिया था. एक सत्र अदालत द्वारा राहत देने से इनकार किए जाने के बाद 13 मई देर शाम कालरा ने उच्च न्यायालय का रुख किया था. हाल में पुलिस की छापेमारी में कालरा के तीन रेस्तरां- खाना चाचा, नेगा जू और टाउन हॉल- से 524 ऑक्सीजन सांद्रक बरामद किए गए थे. इस मामले की जांच बाद में दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा को सौंप दी गई थी. लिस ने दावा किया था कि इन ऑक्सीजन सांद्रकों को चीन से आयात किया गया था और 50 से 70 हजार रुपये में बेचा जा रहा था जबकि इनकी वास्तविक कीमत 16 से 22 हजार के बीच थी.

दअसल, इस मामले की शुरुआत 6 मई को हुई थी जब लोधी थाना पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार कर 419 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बरामद किए थे. इन लोगों से पूछताछ के बाद ही खान मार्केट के कुछ रेस्त्रां में ऑक्सीजन कंसंट्रेर छिपाए होने का सुराग मिला था. जहां एक तरफ कोरोना के इस संकट में ऑक्सीजन की भारी मांग सामने आई, वहीं तीन से चार गुना दामों में इन ऑक्सीजन कंसंट्रेटर को बेचा जा रहा था.