गुरुवार 13 मई को पेट्रोल-डीजल के दामों में कोई बदलाव नहीं किया गया है. जहां पिछले तीन दिनों से दाम लगातार बढ़ रहे थे. चुनाव खत्म होते ही पिछले 10 दिनों से सात दिन रिटेल फ्यूल के दाम बढ़ाए हैं. लेकिन बुधवार को अंतरराष्ट्रीय क्रूड बाजार में तेजी आने के बावजूद उसका असर घरेलू दामों पर नहीं दिखा है. 2 मई के बाद से सात दिन दाम बढ़ाए गए हैं और इन सात दिनों में ही पेट्रोल 1.68 रुपए और डीजल 1.88 रुपए महंगा हो गया है.

बता दें कि दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 92.05 रुपए प्रति लीटर है. वहीं, डीजल 82.61 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है. मुंबई की बात करें तो यहां पेट्रोल 98.36 रुपए प्रति लीटर है और डीजल 89.75 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है. चेन्नई में पेट्रोल 93.84 रुपए प्रति लीटर और डीजल 87.49 रुपए प्रति लीटर डीजल बिक रहा है. वहीं कोलकाता में पेट्रोल 92.16 रुपए और डीजल की कीमत 85.45 रुपए प्रति लीटर है.

साथ ही आपको ये भी बता दें कि पिछले एक साल में तेल की कीमतों में 20 रुपये से ज्यादा की बढ़ोतरी देखने को मिली है. हालांकि इस दौरान पेट्रोल और डीजल की बेस प्राइस मात्र 3-4 रुपये प्रति लीटर का इजाफा देखने को मिला है. बेस प्राइस और टैक्स प्राइस को देखें तो साफ पता चल रहा है कि तेल की कीमतों में आई तेजी के लिए मौजूदा टैक्स अहम कारक है. वहीं पिछले साल 1 मई को दिल्ली में पेट्रोल पंपों पर पेट्रोल के दाम 69.59 रुपये प्रति लीटर था. जबकि उस दौरान बेस प्राइस 27.95 रुपये थी. इसी तरह डीजल की कीमत 62.29 रुपये और इसकी बेस प्राइस 24.85 रुपये थी.

बता दें कि देश में हर रोज सुबह 6 बजे तेल के दामों को रिवाइज़ किया जाता है क्योंकि क्रूड ऑयल की कीमतों और विदेशी मुद्रा की दरों के हिसाब से देश में हर रोज पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बदलाव होता है. ये नई कीमतें हर रोज सुबह 6 बजे से देश के हर पेट्रोल पंप पर लागू हो जाती हैं.