समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक हाजी जमीर उल्लाह खान ने शहाबुद्दीन की मौत को साजिश के तहत हत्या करार दिया है. तो वहीं उत्तर प्रदेश की पूर्व में सपा की सरकार में पूर्व मंत्री आजम खान की जिंदगी को खतरे में बताया और कहा शहाबुद्दीन की तर्ज पर ही कोई बड़ी साजिश आजम खान के खिलाफ भी रची जा सकती है.

अलीगढ़ से समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक हाजी ज़मीरुल्लाह ख़ान ने प्रदेश सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री व रामपुर लोकसभा सीट से मौजूदा सांसद आज़म खाँ की सीतापुर जेल में बिगड़ती सेहत को लेकर अपनी चिंता ज़ाहिर की है. तो वही समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक हाजी जमीरउल्लाह खान ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को एक पत्र लिख कर उक्त मांग की है, जिसमें आजम खां की ख़राब सेहत का हवाला देते हुए उच्च चिकित्सा के लिए उन्हें दिल्ली एम्स में भर्ती कराने के लिए कहा है. साथ ही राजद नेता मोहम्मद शहाबुद्दीन के निधन पर कहा कि जिस प्रकार से शासन प्रशासन की लापरवाही से उनकी जान गई है, उसे शहाबुद्दीन की हत्या मानता हूँ.

साथ ही पूर्व सपा विधायक हाजी जमीरउल्लाह खान ने कहा कि मोहम्मद शहाबुद्दीन शासन प्रशासन की लापरवाही की भेंट चढ़ गए इसलिए में शहाबुद्दीन की मौत को उनकी हत्या मानता हूँ. अगर उनको समय से इलाज मिल गया होता तो आज शहाबुद्दीन हम लोगों के बीच में जिंदा होते. इसी चीज़ को लेकर मुझको आजम खां को लेकर भी शक है कही शहाबुद्दीन की तरह आजम खां के साथ भी ऐसी ही कोई घटना हो सकती है. लिहाज़ा मीडिया के माध्यम से लोकसभा स्पीकर ओम बिरला से मांग करता हूँ आज़म खां को तुरंत सीतापुर जेल से निकालकर दिल्ली के AIIMS ले जाकर उनका समुचित इलाज कराया जाए.

हाजी जमीरउल्लाह खान ने कहा कि सीतापुर जेल में आजम खान के साथ क्या हो रहा है क्या नहीं हो रहा है किसी को कुछ भी नहीं मालूम है कि उनका आखिर जेल में इलाज क्या चल रहा है ये देश के सामने लाया जाना चाहिए. आज़म खां कोई छोटे मोटे इंसान नहीं है. बल्कि वह कई बार मंत्री विधायक सांसद रहे चुके हैं. आजम खां कोई गुंडे तो नहीं है. बदले की भावना के चलते आजम खान को जेल में डाला गया है. तो वही इसी बदले की भावना से आजम खान के साथ कुछ भी किया जा सकता है. यहां तक की आजम खाां की साजिश के तहत हत्या भी हो सकती है. क्योंकि अगर आजम खान को समुचित सही इलाज नहीं मिला तो उसको में आजम खान की हत्या ही मानूँगा. और यही मुख्तार अंसारी के साथ है. जिनको किसी अच्छे अस्पताल में मुख्तार अंसारी को भर्ती किया जाए और उनको बचाया जाए.