भारत में कोरोना का खौफ लगातार जारी है. रोजाना कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बढ़ता रहा है. वहीं अब बीते दिन एक दिन में सबसे ज्यादा मौत का आंकड़ा सामने आया है. इसके साथ ही भारत में अब तक 2,26,188 लोगों की कोरोना की वजह से मौत हो चुकी है. स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में 382,315 नए कोरोना केस आए और 3780 संक्रमितों की जान चली गई है. हालांकि 3,38,439 लोग कोरोना से ठीक भी हुए हैं. देश में एक मई को रिकॉर्ड 3689 संक्रमितों की मौत हुई थी. बता दें कोरोना वायरस पर काबू पाने के लिए कई राज्यों ने सख्ती बरती हुई है, वहीं कुछ राज्यों ने तो संपूर्ण लॉकडाउन लगा रखा है. इसके बावजूद कोरोना की रफ्तार कम होने का नाम नहीं ले रही है.

बता दें कि महाराष्ट्र में कोविड से मौतों और नए मामलों में तेज बढ़ोतरी दर्ज की गई, हालांकि मुंबई की स्थिति में सुधार हुआ है. मंगलवार को राज्य में मौतों का कुल आंकड़ा 71,000 तक जा पहुंचा. सोमवार को राज्य में 567 मौतें हुई थीं, जबकि मंगलवार को 891 मौतें हुईं. इसके साथ मौतों का कुल आंकड़ा 71,742 तक जा पहुंचा. नए संक्रमणों की संख्या फिर से 50,000 के स्तर को पार करते हुए 51,880 हो गई. राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या अब 48,22,902 हो गई है.

वहीं देशव्यापी लॉकडाउन लगाए जाने की मांग के बीच भारत के बड़े हिस्से में इस तरह की पाबंदियां अलग-अलग समय अवधि के लिए जारी हैं. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 19 अप्रैल से लॉकडाउन लगा हुआ है और यह दस मई तक जारी रहेगा. बिहार में चार मई से 15 मई तक लॉकडाउन लगाया गया है. उत्तर प्रदेश में वीकेंड लॉकडाउन दो और दिनों के लिए बढ़ाकर गुरुवार तक किया गया है. हरियाणा में तीन मई से सात दिनों के लिए लॉकडाउन लागू है. ओडिशा में आज से 19 मई तक 14 दिनों का लॉकडाउन लगाया गया है. राजस्थान में 17 मई तक लॉकडाउन जैसी पाबंदियां लागू हैं. कर्नाटक में 7 अप्रैल की रात से 12 मई तक लॉकडाउन लगा है.

तो वहीं झारखंड में 22 अप्रैल से छह मई तक लॉकडाउन लागू है. छत्तीसगढ़ में जिलाधिकारियों को लॉकडाउन 15 मई तक बढ़ाने की अनुमति है, जो पांच मई को समाप्त हो रहा है. पंजाब में वीकेंड लॉकडाउन जैसे उपायों के अलावा व्यापक पाबंदियां हैं और 15 मई तक रात्रि कर्फ्यू लागू रहेगा. मध्यप्रदेश में सात मई तक कोरोना कर्फ्यू लागू है जिसमें केवल आवश्यक सेवाओं को अनुमति है. गुजरात के 29 शहरों में रात्रि कर्फ्यू जारी है. महाराष्ट्र में पांच अप्रैल को निषेधाज्ञा के साथ कर्फ्यू जैसा लॉकडाउन और लोगों की आवाजाही पर पाबंदियां लगाई थीं. ये पाबंदियां बाद में 15 मई तक बढ़ा दी गईं. वहीं पश्चिम बंगाल में पिछले हफ्ते हर तरह की सभाओं पर प्रतिबंध सहित व्यापक पाबंदियां लगाई गईं. इसके अलावा अन्य कई राज्यों में एसी पाबंदिया और लॉकडाउन लगाया गया है.