कोरोना के बढ़ते कहर को देखते हुए भारत के तमाम शहरों में ऑक्सीजन को लेकर हाहाकार मचा हुआ है. वहीं अब दिल्ली से सटे गुरुग्राम प्रशासन ने ऑक्सीजन को लेकर एक नया फरमान जारी किया है जिसके मुताबिक, गुरुग्राम के सभी ऑक्सीजन प्लांट्स पर सिर्फ गुरुग्राम के अस्पतालों को ही ऑक्सीजन दिया जाएगा. ऑक्सीजन गुरुग्राम का आधार कार्ड देखने के बाद ही दी जाएगी.

बता दें कि गुरुग्राम प्रशासन के तुगलकी फरमान के मुताबिक, शहर में होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों को भी ऑक्सीजन नहीं दी जाएगी. ऑक्सीजन की तलाश में यहां पहुंचीं पुष्पा कहती हैं, ‘मैं सुबह 6 बजे से खड़ी हूं. कह रहे हैं जिनके मरीज अस्पताल में नहीं हैं तो उन्हें ऑक्सीजन नहीं देंगे. अरे हमें बेड ही नहीं मिला तो घर पर ऑक्सीजन दे रहे हैं. गरीब आदमी कहां जाएं.

ऑक्सीजन की कमी के चलते कई नॉन कोविड अस्पतालों को ऑक्सीजन नहीं मिल पा रही है. गुरुग्राम के न्यू बोर्न और चाइल्ड केयर नर्सरी के अस्पताल के मुताबिक, उनके अस्पताल में कई नवजात बच्चे ऑक्सीजन पर हैं और उनके यहां ऑक्सीजन खत्म होने वाली है. अगर जल्द ऑक्सीजन नहीं मिली तो कई नवजात बच्चों की जान खतरे में आ सकती हैं. अस्पताल की चिठ्ठी के बाद प्रशासन ने किसी तरह अस्पताल में ऑक्सीजन पहुंचाई. डॉ सिजॉय ने कहा कि हमारे वेंडर ने हाथ खड़े कर दिए थे, फिर अभी डीसी ने बोला है कि समस्या नहीं होने देंगे.

साथ ही आपको बता दें कि गुरुग्राम NCR का हिस्सा है लेकिन नए फरमान के मुताबिक, अगर आप गुरुग्राम के नागरिक नहीं हैं तो भले ही आपका मरीज ऑक्सीजन के अभाव में मर जाए लेकिन गुरुग्राम में आपको ऑक्सीजन नहीं दिया जाएगा.