देश की आजादी के लिए लड़ाई लड़ने वाले 103 वर्षीय स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बिरदीचंद गोठी ने कोरोना वायरस संक्रमण को मात दी है. वह मध्य प्रदेश के बैतूल के निवासी हैं और की जन्मतिथि दो नवंबर 1917 है. पांच अप्रैल को उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी और शुक्रवार को उनकी रिपोर्ट निगेटिव आ गई है. गोठी ने शनिवार को पत्रकारों से कहा, ‘‘कोरोना वायरस संक्रमित होने के बाद डॉक्टरों ने मेरा इलाज किया. साथ ही घर पर काम करने वाले लोगों ने सहयोग किया. मैं खुश रहा और सादा खाना खाया. इसलिए मैं कोरोना को मात दे सका.

उन्होंने कहा, ईश्वर की कृपा से मैं ठीक हूं. इलाज के दौरान सबका सहयोग मिला. मैं मानसिक रूप से ठीक रहा और खुश रहा. खान-पान ठीक रखा. इसलिए जल्द स्वस्थ हो गया. उन्होंने कहा, आजकल का खानपान एवं रहन-सहन लोगों को शारीरिक रूप से कमजोर कर रहा है. इसलिए सभी को सादा जीवन और सादा एवं संतुलित आहार लेने की जरूरत है. दिनचर्या को बेहतर कर शारीरिक परिश्रम करें और प्रसन्न रहें. इससे हम कोरोना को हरा सकते हैं.

साथ उन्होंने ने बताया कि छिंदवाड़ा के डॉक्टर प्रवीण नाहर की देखरेख में बैतूल में घर पर ही उनका इलाज हुआ. डॉ. नाहर ने बताया, गोठी पांच अप्रैल को कोरोना संक्रमित पाये गये थे और 23 अप्रैल को उनकी रिपोर्ट निगेटिव आ गई है.