जहा देश में बड़ते कोरोना को देखते हुए सीबीएसई ने 10वीं की परीक्षा रद्द और 12वीं की परीक्षा स्थगित कर दी थी, वहीं अब आईसीएसई (इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्ज़ामिनेशंस) ने भी 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षाएं स्थगित करने का फैसला लिया है. बता दें कि अब जून के पहले हफ्ते में नई तारीखों की घोषणा की जाएगी.

भारत में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है, इसी को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है. दिल्ली समेत यूपी और गुजरात सरकार ने भी अपने राज्य की बोर्ड परीक्षा स्थगित कर दी है. जहां अभिभावकों, छात्रों, नेताओं और विभिन्न राज्य सरकारों की ओर से भी मांग की गई थी कि परीक्षाओं को कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच टाला जाए. बता दें कि बोर्ड के इस फैसले का असर करीब 35 लाख छात्रों पर पड़ेगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 अप्रैल को शिक्षा मंत्री और मंत्रालय के अन्य शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक की थी.

अपको बता दें कि जब पिछले साल आईसीएसई ने परीक्षाओं को रद्द कर दिया था. वहीं तीन मापदंडों के आधार पर औसत अंक, विषय व्यावहारिक और आंतरिक मूल्यांकन छात्रों का मूल्यांकन किया गया था. हालांकि इस साल भी यह उम्मीद जताई जा रही है कि इसी का पालन किया जाएगा. परिषद को अभी तक इस वर्ष के बाद आने वाले मूल्यांकन मानदंडों की जानकारी नहीं दी गई है , अभी तक कक्षा 10वीं की कोई भी परीक्षा नहीं हुई है. कक्षा 12वीं के लिए, दो पेपर आयोजित किए गए थे.

दरसअल इससे पहले भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और शिक्षा मंत्री के बीच बैठक के बाद, कोरोना महामारी के कारण सीबीएसई ने 12 कक्षा की परीक्षाओं को बंद करने और कक्षा 10वीं के छात्रों के लिए परीक्षा रद्द करने का निर्णय लिया गया था. सीबीएसई के निर्णय के तुरंत बाद आईसीएसई ने प्रमुख ने कहा था, “बोर्ड कक्षा 10वीं और 12 वीं आईसीएसई बोर्ड की परीक्षा 2021 के संबंध में निर्णय करेगा, और सभी संबंधितों को जल्द से जल्द सूचित किया जाएगा.