पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी से चुनाव आयोग कहा है कि बढ़ते कोरोना को देखते हुए बचे चार चरणों के चुनाव एक साथ करा दिए जाएं. बता दें कि ममता का यह सुझाव ऐसे समय में आया है, जब कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए चुनाव आयोग ने एक सर्वदलीय बैठक बुलाई है, जिसमें बाकी बचे चरणों के चुनाव को लेकर सभी पार्टियों की राय ली जाएगी.

हालांकि चुनाव आय़ोग ने यह पहले ही स्पष्ट किया है कि बाकी चरणों के चुनाव एक साथ कराना संभव नहीं है. जिसके बाद इस मामले को लेकर संदेह चुनाव आय़ोग ने खत्म कर दिया है. वहीं तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी ने बंगाल में कोरोना के बढ़ते मामलों के लिए बीजेपी को ही जिम्मेदार ठहराया है.

बता दें कि पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने गुरुवार शाम को एक ट्वीट कर कहा, महामारी को देखते हुए हमने चुनाव आयोग से विधानसभा चुनाव आठ चरणों में कराने का कड़ा विरोध किया था. जब बंगाल में कोरोना के मामले बेतहाशा तरीके से बढ़ रहे हैं तो चुनाव आयोग से यह गुजारिश है कि बाकी चरणों के चुनाव को एक साथ ही निपटा दिया जाए. यह लोगों को कोरोना के जोखिम से बचाएगा और संक्रमण को भी कम किया जा सकेगा.

जबकि गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल के लिए आठ चरणों में विधानसभा चुनाव कराने का ऐलान किया था. बाकी चार राज्यों तमिलनाडु, केरल, पुदुच्चेरी और असम में विधानसभा चुनाव 6 अप्रैल को ही संपन्न हो गया था. बंगाल में कोरोना के लगातार मामले बढ़ते जा रहे हैं और रोजाना यह संख्या 6 हजार के करीब पहुंच गई है. कोलकाता हाईकोर्ट ने भी बंगाल की चुनावी रैलियों में सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क पहनने जैसे कोरोना के नियमों का पालन ना होने पर गहरी नाराजगी जताई थी.