कोरोना महामारी के एक बार फिर से पूरी दुनिया में जोर पकड़ने से निवेशकों का भरोसा एक बार फिर से डगमगाने लगा है और वे सुरक्षित निवेश की तरफ आकर्षित हो रहे हैं. यही वजह है कि होली के बाद से सोना और चांदी में लगातार तेजी देखी जा रही है. ऐसे में सोने के दामों में बढ़ोतरी दिख रही है. इस हफ्ते दो सत्रों में सोना प्रति 10 ग्राम पर 1,000 रुपए से अधिक चढ़ा था. शुक्रवार को भी सोने की कीमत में तेजी देखी गई. सोने के दामों में प्रति 100 ग्राम पर 100 रुपए की तेजी आई है. अगर प्रति 10 ग्राम देखें तो 22 कैरट सोना 44,560 पर बिक रहा है.

वहीं दिल्ली सर्राफा बाजार में गुरुवार को सोने और चांदी की कीमतों में तेजी दर्ज की गई है. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में तेजी के चलते दामों में ये बढ़त देखी गई. 10 ग्राम सोने का दाम 182 रुपए बढ़ गया. वहीं, इंडस्ट्रियल डिमांड में सुधार से चांदी में और ज्यादा मजबूती आई. एक किलोग्राम चांदी की कीमत 725 रुपए बढ़ गई. HDFC सिक्योरिटी के मुताबिक, इंटरनेशनल मार्केट में तेजी से सोने को सपोर्ट मिला है. अंतर्राष्ट्रीय मार्केट में सोने का भाव 1,744 डॉलर प्रति औंस रहा.

हालांकि बेशकीमती धातु सोना अब भी अपने रिकॉर्डस्तर से 10,000 रुपए सस्ता चल रहा है. अगस्त, 2020 में सोने की कीमत 56,200 रुपए प्रति 10 ग्राम थी, जो तबसे अब तक का रिकॉर्ड हाई है. लेकिन अगले कुछ महीनों में सोने के दामों में लगातार गिरावट दर्ज की गई है.

बता दें कि मार्च में देश में सोने का आयात 160 टन के रेकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया. पिछले साल के मुकाबले इसमें 471 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. सोने की कीमतों में कमी और आयात शुल्क में कटौती से खुदरा ग्राहकों और आभूषण विक्रेताओं का रुझान सोने की ओर बढ़ा है. जनवरी-मार्च तिमाही में सोने का आयात 321 टन रहा, जो सालभर पहले 124 टन था. कीमत के आधार पर मार्च में आयात सालभर पहले के 1.23 अरब डॉलर की तुलना में 8.4 अरब डॉलर पर पहुंच गया.