पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ विवादित टिप्पणी करने वाले यति नरसिंहानंद के पोस्टर पर एआईएमआईएम कार्यकर्ताओं ने जूतों से बौछार करते हुए भद्दी भद्दी गालियां अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया, साथ ही पोस्टर पर जूते मारने को लेकर एआईएमआईएम कार्यकर्ताओं की पुलिस से तीखी नोकझोंक भी हुई, एआईएमआईएम कार्यकर्ताओं के साथ पुलिस की तीखी गहमागहमी के बीच पुलिस ने भी कार्यकर्तओं को दी गंदी-गंदी गालियां.

बता दें कि पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ टिप्पणी करने के बाद यति नरसिंहानंद के खिलाफ लोगों का गुस्सा बढ़ता जा रहा है. पूरे देश में जगह-जगह उनके खिलाफ मुस्लिम समाज के लोग प्रदर्शन कर रहे हैं. आज एआईएमआईएम कार्यकर्ताओं ने जमालपुर में यति नरसिंहानंद के खिलाफ प्रदर्शन किया. कार्यकर्ताओं ने नरसिंघानन्द के पोस्टर पर जूतों की बौछार कर दी और एक ज्ञापन पुलिस क्षेत्राधिकारी को सौंपा.

साथी ही एआईएमआईएम के जिलाध्यक्ष नाजिम अली ने कहा कि यह नरसिंहआनंद आए दिन पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब को लेकर बयान दे रहे हैं. यह जो कर रहे हैं और भी कई हिंदूवादी संगठन के लोग हैं जो इस तरह की हरकत कर रहे हैं. हमने प्रशासन को तहरीर दी लेकिन एफआईआर नहीं हो रही हैं. जब इतनी सारी चीजें हो रही हैं और गिरफ्तारी नहीं कर रहे हैं तो क्या आप उनके सहयोगी है. अगर कोई गलत आदमी नफरत फैलाने की कोशिश कर रहा है तो आप इस चीज को बढ़ावा देने का काम कर रहे हैं. गिरफ्तारी ना करके सरकार इनका समर्थन कर रही है.

बताए की सरकार इनको उठाकर जेल में क्यों नहीं डालती है. अगर यह ऐसे बयान देंगे तो दूसरी तरफ के लोग खामोश नहीं है, उनके मुंह में भी जवान है, वह भी बोल सकते हैं. लेकिन वह सभी धर्म की आस्था को ख्याल रख रहे हैं. सबको पता है हिंदू मुस्लिम भाई भाई हैं एक दूसरे की आस्था का ख्याल रखना हमारी जिम्मेदारी है. ऐसे लोगों को देश से बाहर कर देना चाहिए.

वहीं अलीगढ़ के सीओ सिविल लाइन अनिल समानिया ने बताया कि एक ज्ञापन यति नरसिंह आनंद के खिलाफ एआईएमआईएम कार्यकर्ताओं ने दिया है, जिन्होंने कोई आपत्तिजनक बयान दिया था, ज्ञापन राष्ट्रपति महोदय को भेजा जाएगा.