महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते कहर को देखते हुए उद्धव ठाकरे सरकार ने नए और सख्त नियम लागू करने के आदेश दिए हैं. कोरोना के आगे बेबस महाराष्ट्र एक बार फिर लॉकडाउन की राह पर लौट चुका है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में महाराष्ट्र में सोमवार से नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया गया है. ये नियम कल शाम 8 बजे से लागू किया जाएगा. रात 8 से सुबह 7 बजे तक कर्फ्यू रहेगा और दिन भर धारा 144 लागू रहेगी, जिसके तहत 5 से ज़्यादा लोग जमा नहीं होंगे. इसके साथ ही वीकेंड पर लॉकडाउन रहेगा.

बता दें कि महाराष्ट्र में 24 घंटे में रिकॉर्ड 57 हजार 74 मामले दर्ज किए गए जबकि 222 लोगों की मौत हुई है. मुंबई में 11 हजार 163 नए केस सामने आए और 25 लोगों की जान चली गई. विंटर कैपिटल नागपुर में 4 हजार 110 नए केस सामने आए और 62 लोगों की मौत हुई है. महाराष्ट्र में बिगड़ते हालात को देखते हुए सभी दलों ने सरकार के फैसले का समर्थन किया है.

वहीं कैबिनेट की बैठक में फैसला किया गया है कि मॉल, रेस्टोरेंट और बार इत्यादि को बंद किया जाएगा. हालांकि, पार्सल की व्यवस्था शुरू रहेगी. अति आवश्यक सेवाएं शुरू रहेंगी. सरकारी कार्यालय और दफ्तर 50 फीसदी क्षमता के साथ काम करेंगे. इंडस्ट्री पूरी तरह चालू रहेगी. वर्करों पर कोई पाबंदी नहीं है. कंस्ट्रक्शन साइट जहां वर्कर को रहने की सुविधा है, वो कंस्ट्रक्शन साइट चालू रहेंगे, और सरकारी ठेके में जहां निर्माण का काम शुरू है, वो चालू रहेंगे. सब्ज़ी मंडियों पर कोई निर्बंध नहीं है, लेकिन भीड़ कम करने के लिए नियम बनाए गए हैं.

महाराष्ट्र में शुक्रवार रात 8 बजे से सोमवार सुबह 7 बजे तक सख्त लॉकडाउन रहेगा यानी वीकेंड में लॉकडाउन रहेगा. यह फैसला लेने से पहले सभी लोगों से बात की गई. वीकेंड में अति आवश्यक सेवाओं को छोड़ सबकुछ बंद रहेगा. साथ ही बैठक में यह फैसला लिया गया है कि शूटिंग में जहां भीड़ नहीं होगी, वहाँ काम शुरू रह सकता है. थिएटर बंद रहेंगे. सभी यातायात सुविधाएं पहले की तरह शुरू रहेंगी. पब्लिक ट्रांसपोर्ट 50 फीसदी की क्षमता से चलेगा.