एक बार फिर फेसबुक डेटा लीक का मामला सामने आया है. जिसमें फेसबुक का इस्तेमाल करने वाले दुनियाभर के 100 देशों के करीब 53 करोड़ से ज्यादा लोगों का डेटा ऑनलाइन लीक हुआ है. बता दे कि हैकर्स ने शनिवार को 50 करोड़ से ज्यादा लोगों के फोन नंबर और निजी डाटा को सार्वजनिक कर दिया.

वहीं लीक हुए इस डाटा में फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग का भी फोन नंबर शामिल है. साथ ही जानकारी के मुताबिक इसमें साठ लाख भारतीयों का डेटा भी शामिल है. आपको बता दें कि देश में अभी डेटा सुरक्षा को लेकर कोई कानून नहीं है. इससे जुड़ा एक डेटा प्रोटेक्शन बिल लोकसभा में अटका हुआ है.

जहां दूसरी तरफ फेसुबक मामले में हैकर्स ने 106 देशों के यूजर्स का डाटा सार्वजनिक किया है. आशंका है कि 60 लाख भारतीय यूजर्स के डाटा को भी हैक किया गया है. हैकर्स ने फेसबुक आईडी, नाम, पता, जन्मदिन और ई-मेल एड्रेस चुराए हैं. हालांकि, फेसबुक के मुताबिक लीक हुए सारे डेटा 2019 से पहले के हैं. वहीं अब डेटा लीक होने के बाद सबकुछ ठीक कर दिया गया था. हालांकि जानकारों के मुताबिक पुराने डेटा से भी हैकर्स यूजर्स को नुकसान पहुंचा सकते हैं.

बता दें कि फेसबुक डेटा लीक को लेकर पहले भी विवाद होते रहे हैं. ब्रिटेन की कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका 5.62 लाख भारतीय का फेसबुक डेटा चोरी करने का आरोप लगा था. कैंब्रिज एनालिटिका राजनीतिक परामर्श देने का काम करती है. इसको लेकर सीबीआई ने कैंब्रिज एनालिटिका के खिलाफ मामला भी दर्ज किया था.