बीजेपी के कार्यकर्ता द्वारा भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत के ऊपर राजस्थान में जानलेवा किया. किसान नेता पर हुए इस कातिलाना हमले की सूचना मिलने के बाद किसानों में आक्रोश पनप उठा और किसानों ने अलीगढ़ पलवल रोड को पूरी तरह से जाम कर दिया गया. इस हमले के बाद भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय महासचिव ने किसान नेता राकेश टिकैत को जेड श्रेणी की सुरक्षा देने की सरकार से मांग की गई. तो वही जेड श्रेणी की सुरक्षा नहीं देने पर सरकार के खिलाफ एक बड़े आंदोलन की चेतावनी भी दी.

राजस्थान के अलवर में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के ऊपर हुए हमले को लेकर आज शाम भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने कई जगह पर रोड जाम कर दिया। टप्पल में भी रोड जाम किया गया. किसान नेताओं का कहना था कि जिस तरह से गांधी जी को गोली मारकर उनकी आवाज को बंद कर दिया गया था उसी तरह हमारे राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के ऊपर भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने हमला किया है उनको जेड प्लस सिक्योरिटी की सुरक्षा उपलब्ध कराई जाए.

मंडल अध्यक्ष भारतीय किसान यूनियन सुंदर बालियान ने कहा हमारे राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत उन पर गोली चलाई है. बीजेपी के लोगों ने गोली चलाई। जिस जानलेवा हमले में वह बच गए। बड़े ही ताज्जुब की बात है बीजेपी की जो महात्मा गांधी में गोली मारी वही पुनरावृत्ति आज की गई और राकेश टिकैत के ऊपर भी हमला किया गया। किसान इसका विरोध करते हैं और हम चाहते हैं कि उन को सुरक्षा मिले और अगर सरकार नहीं मानती है तो बहुत बड़ा आंदोलन होगा.

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय महासचिव अनिल तालान ने जाम लगाने का कारण बताते हुए कहा कि जाम लगाने का उन्हें बड़ा खेद है जो आज हम किसानों को जाम लगाना पड़ा है।जिन लोगों को इस जाम से परेशानी हुई उसके लिए खेद है. राकेश टिकैत पर राजस्थान में जानलेवा हमला हुआ और सरकार इस पर कोई संज्ञान नही लेती है. वही एक बीजेपी के कार्यकर्ता ने उनके ऊपर जानलेवा हमला किया है. ये हमला स्पष्ट दर्शाता है की बीजेपी की किसान नेता राकेश टिकैत के खिलाफ कितनी ईर्ष्या है. जिस हमले के चलते तत्काल पूरे प्रदेश में रोड़ को रोकते हुए जाम लगाया गया है। सरकार से मांग है की किसान नेता राकेश टिकैत को जेड श्रेणी की सुरक्षा दी जाये. अगर सरकार ने जेड श्रेणी की सुरक्षा नहीं दी गई तो सरकार को एक बड़े आंदोलन से गुजरना पड़ेगा.