उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद की थाना सिविल लाइंस पुलिस ने एक ऐसे शातिर गैंग के सदस्यों को गिरफ्तार कर एक बड़े गैंग का ख़ुलासा किया है, जो उत्तर प्रदेश के साथ ही अन्य कई राज्यों में जाकर लोगो नक़ली नोट की गड्डियां दिखाकर उन्हें ठग लेता था, मुरादाबाद में भी इस शातिर ठगों के गैंग के सदस्यों ने 15 मार्च को थाना सिविल लाइन से कुछ ही मीटर की दूरी पर एक व्यक्ति से 3 लाख 32 हज़ार रुपये ठग लिए थे, ठगी की जानकारी जैसे ही पुलिस को मिली पुलिस ने घटनास्थल के आसपास सहित लगभग 250 से ज्यादा स्थानों पर लगे सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद नजर आई एक संदेश सैंटरो कार की नंबर प्लेट पर 10 नंबर को सर्च किया तो पता चला गए बोर्ड सेंट्रो कार दिल्ली के एक पते पर रजिस्टर्ड है.

जिसके बाद पुलिस की दो टीमें दिल्ली गई लेकिन पता चला कि गैंग के सदस्य अभी दिल्ली नहीं पहुंचे हैं उसके बाद पुलिस को पता चला कि वह कार मुरादाबाद में ही घूम रही है और आज फिर किसी घटना को अंजाम दे सकते हैं, पुलिस ने नाकाबंदी कर सेंट्रो में सवार सभी ठगों को गिरफ्तार कर लिया, इनके पास से पुलिस को 15 मार्च को ठगे गए 3 लाख 32 हज़ार रुपये में से 2 लाख 91 हज़ार रुपये भी बरामद हो गए हैं, पुलिस ने इन बदमाशों से चार मोबाइल फोन, पेपर काटने का कटर, नकली नोट बनाने के लिये काटे गए सफ़ेद पेपर वाली गड्डियां, कॉपी और एक सेंट्रो कार बरामद की है, पुलिस अब इन अपराधियों की कुंडली खंगाल रही है कि अब तक यह कहां-कहां इस तरह की ठगी की वारदात को अंजाम दे चुके हैं.