बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह जो अपने विवादास्पद बयानों से अक्सर चर्चा बने रहते है उन्होंने अब विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए कांग्रेस को विरासती, सपा को शरारती और बसपा को व्यापारी पार्टी बताया है. बता दें कि सुरेंद्र सिंह यूपी सरकार के चार साल पूरे होने पर कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने विपक्षी नेताओं को खूब खरी-खोटी सुनाई.

बता दें कि बीजेपी विधायक ने कहा कांग्रेस विरासती पार्टी है जबकि सपा शरारती पार्टी है और बसपा व्यापारी पार्टी है. उन्होंने ये भी कहा कि एक राष्ट्र की पुजारी पार्टी बीजेपी है. इसके अलावा विधायक ने प्रशानिक अधिकारियों को आड़े हाथ लेते हुए संविधान का पाठ पढ़ाया. उन्होंने कहा कि संविधान इंसान की रक्षा करने के लिए होता है. संविधान दुरुपयोग करने के लिए नहीं होता है. परिस्थितियों का अध्ययन होना चाहिए. भले ही योगी जी कुछ ना कर सके, सुरेंद्र सिंह कुछ ना कर सके, लेकिन प्रकृति किसी भी अधिकारी को माफ करने वाला नहीं है.

साथ ही उन्होंने स्वर्गीय प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का नाम लिए बिना उन पर भी हमला बोला. उन्होंने कहा कि हमने देखा है इस धरती पर दुनिया की सबसे ताकतवर महिला के अपने घर में ही उसका कोई अपना नहीं है. इसीलिए संविधान का दुरुपयोग भी नहीं होना चाहिए. हम लोग भले ही राजनीति में 5 साल के लिए इलेक्टेड है. आप लोग तो 60 साल तक सिलेक्टेड हैं. अधिकारी संवेदनहीन हैं तो मान लीजिए, वह अधिकारी नहीं राक्षस है. जब तक अधिकारी में संवेदनशीलता नहीं होगी तब तक अपने दायित्व का निर्वहन कर ही नहीं सकता.