ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन अप्रैल के आखिर में भारत दौरे पर आएंगे. बता दें कि भारत के 72 वें गणतंत्र दिवस पर बोरिस को मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया गया था, लेकिन ब्रिटेन में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों की वजह से उन्होंने अपनी यात्रा रद्द कर दी थी.

न्यूज़ एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, बोरिस जॉनसन अगले महीने के आखिर में भारत आएंगे. यूरोपीय संघ से ब्रिटेन के बाहर निकलने के बाद बोरिस जॉनसन की यह पहली बड़ी अंतर्राष्ट्रीय यात्रा होगी. इसक बात की जानकारी उनके कार्यालय ने दी है.

गौरतलब है कि गणतंत्र दिवस मौके पर बोरिस जॉनसन ने भारत को शुभकामनाएं देते हुए कहा था, ”मैं इस साल भारत आने के लिए उत्सुक हूं, ताकि हमारी दोस्ती को मजबूत कर सकें, रिश्तों को आगे बढ़ा सकें, जिसका संकल्प प्रधानमंत्री मोदी और मैंने किया है.” उन्होंने कहा था, ”मेरे मित्र प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विनम्र आग्रह पर इस खास अवसर का साक्षी बनने को उत्साहित था, लेकिन कोविड-19 के कारण उत्पन्न समस्याओं के कारण मुझे लंदन में ही रुकना पड़ा.’

साथ ही बोरिस ने कहा था, ‘‘दोनों देश मिलकर टीका विकसित करने, उसे बनाने और वितरित करने के लिए काम कर रहे हैं, जो मानवता को वैश्विक महामरी से मुक्त करने में मदद करेगा. ब्रिटेन, भारत और कई अन्य राष्ट्रों के संयुक्त प्रयासों की बदौलत हम कोविड के खिलाफ जीत दर्ज करने की दिशा में बढ़ रहे हैं.