केंद्रीय जांच ब्‍यूरो (CBI) ने सेना भर्ती घोटाला मामले में छह लेफ्टिनेंट कर्नल सहित कई अन्य अधिकारियों और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. बता दें कि इस मामले में सीबीआई ने 3 से ज्यादा राज्यों में छापेमारी की. सेना मुख्यालय की शिकायत के आधार पर सीबीआई ने भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम व अपराधिक षड्यंत्र के तहत यह मामला दर्ज किया था. सेना मुख्यालय की तरफ से सीबीआई को जो शिकायत की गई थी उसमें लेफ्टिनेंट कर्नल मेजर जैसे रैंक के अधिकारी भी शामिल हैं.

आपको बता दें कि सीबीआई ने सेवा चयन बोर्ड केंद्रों के जरिए सेना में अफसरों की भर्ती में कथित तौर पर भ्रष्टाचार को लेकर लेफ्टिनेंट कर्नल रैंक के 6 अफसरों और अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. जहां अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि सेना हवाई रक्षा कोर के एमसीएसएनए भगवान भर्ती गिरोह का कथित मास्टरमाइंड है और उसके खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है. सीबीआई ने ब्रिगेडियर (सतर्कता) वीके पुरोहित की शिकायत पर कार्रवाई की है. शिकायत में आरोप लगाया गया था कि 28 फरवरी 2021 को जानकारी मिली थी कि नई दिल्ली के बेस अस्पताल में अस्थायी तौर पर खारिज किए गए अधिकारी अभ्यर्थियों की समीक्षा चिकित्सा परीक्षा को पास कराने के लिए सेवारत कर्मी कथित रूप से रिश्वत लेने में शामिल हैं.

वहीं अधिकारियों ने बताया कि शिकायत में कहा गया है कि लेफ्टिनेंट कर्नल भगवान फिलहाल अध्ययन अवकाश पर हैं और नायब सुबेदार कुलदीप सिंह एसएसबी केंद्रों में संभावित अधिकारी अभ्यर्थियों से रिश्वत मांगने में कथित रूप से शामिल है. उन्होंने बताया कि एजेंसी ने सेना के 23 कर्मियों और नागरिकों के खिलाफ मामला दर्ज किया है जिनमें अधिकारियों के संबंधी भी शामिल हैं. यह मामला रिश्वत मांगने और रिश्वत दिलाने के आरोपों में दर्ज किया गया है.