उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ में एक चौंकाने वाला सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है. जहां एक महिला ने चंद रुपयों की खातिर 5 लोगों के ऊपर सामूहिक दुष्कर्म का झूठा मुकदमा दर्ज कराया गया था. पुलिस ने जब सामूहिक दुष्कर्म के मामले की जांच की गई तो पुलिस की जांच में दुष्कर्म मुकदमा फर्जी पाया गया. जिसके बाद पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म का खुलासा कर षड्यंत्र रचने वाले दो लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

बता दें कि बुधवार को एक महिला के द्वारा पांच लोगों के खिलाफ अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म करने का आरोप लगाते हुए थाना मडराक पहुंच कर सामुहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया गया था. महिला के द्वारा लिखाया गया सामुहिक दुष्कर्म का मुकदमा पुलिस की जांच में मामला फर्जी पाया गया. जहा कोतवाली नगर इलाके की रहने वाली एक महिला के द्वारा बताया गया कि वह घर से शौच को निकली थी. उसी दौरान चार-पांच लोग उसे अगवा कर मडराक इलाके में ले गए, जहा उसके साथ पांचो लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म किया. महिला के आरोपों को लेकर पुलिस ने जांच की तो महिला के द्वारा नामजद कराए गए सामुहिक दुष्कर्म के पांचों आरोपी अपने-अपने घर पर पुलिस को मौजूद पाए गए. वही महिला ने घटनास्थल से खुद को अगवा करके ले जाने की बात बताई गई उस जगह पर भी इस तरह की घटना की पुष्टि नहीं हुई.

इसके बाद जब महिला से पुलिस ने पूछताछ की तो महिला ने पुलिस पूछताछ में सब सच्चाई बयां कर दी. पार्षद के चुनाव को लेकर दो पक्षों में पहले से ही विवाद चला आ रहा था. इसी पुराने विवाद में एक पक्ष ने अपने दूसरे पक्ष को मुकदमे में फंसाने के लिए महिला को 20 हजार रुपये देकर पांच लोगो पर सामूहिक दुष्कर्म करने का मुकदमा दर्ज करा दिया. महिला को पैसो का लालच देकर दुष्कर्म का मुकदमा लिखाने वाले युवक को पुलिस ने जब हिरासत में लेकर पूछताछ की तो युवक के द्वारा दुष्कर्म से एक दिन पहले ही सामुहिक दुष्कर्म की तहरीर लिखी गई थी.

वहीं एसपी क्राइम डॉ अरविंद कुमार द्वारा बताया गया कि अब्दुल और शहाबुद्दीन नाम के दो लोगो को मडराक पुलिस ने पकड़ते हुऐ जेल भेज रही है. पकड़े गए दोनो आरोपि अब्दुल व शहाबुद्दीन का पहले से ही किसी से पुराना विवाद चला आ रहा था, जिसको लेकर दोनों ने धमकी दी और पैसों की मांग की थी. जिस विवाद को सेटल करने के लिए इनके द्वारा एक महिला को हायर किया गया. महिला को रुपयों का लालच देकर थाना मडराक भेजा गया. जहा महिला ने धारा 376 में रेप का मुकदमा दर्ज कराया गया था. पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच की गई. झूठा मुकदमा दर्ज कराने वाले लोगो को गिरफ्तार करते हुए जेल भेजा जा रहा है. पुलिस पूरे प्रकरण की जांच कर रही है.