नए कृषि कानून को लेकर किसान संगठनों ने पिछले 108 दिनों से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. सरकार की तरफ से अपनी मांगों पर किसी प्रकार के सकारात्मक जवाब के नहीं आने पर इन किसानों का रुख पश्चिम बंगाल की ओर होता दिख रहा है. वहीं बताया जा रहा है कि आज भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत पश्चिम बंगाल जाएंगे. यही नहीं राकेश टिकैत नंदीग्राम जाएंगे और किसान पंचायत में शामिल होंगे.

बता दें कि बीतों दिनों राकेश टिकैत ने कहा था कि, “सरकार आजकल पश्चिम बंगाल जा रखी है. हम सरकार से वहीं मिलेंगे. हम 13 मार्च को बंगाल जा रहे हैं किसानों से बात करेंगे कि एमएसपी पर खरीद हो रही है कि नहीं, उन्हें क्या दिक्कत है? इन सब चीजों पर बात होगी.”

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस बार नंदीग्राम से चुनाव लड़ने का ऐलान किया है. जिसके लिए उन्होंने 11 मार्च को अपना नामांकन भी जाखिल करवाया था. वहीं नंदीग्राम की इस सीट पर ममता बनर्जी का मुकाबला उनके पूर्व करीबी सहयोगी और अब प्रतिद्वंद्वी शुभेंदु अधिकारी से होने जा रहा है. शुभेंदु अधिकारी ने भी इस सीट से अपना नामांकन किया है. अनुमान लगाया जा रहा है कि लंबे समय से कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान नेता पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी को सपोर्ट कर सकते हैं.