न्यूजीलैंड के उत्तरी-पूर्वी तट पर गुरुवार को आय भूकंप के तेज झटको के बाद प्रशांत महासागर में सुनामी का खतरा मंडराने लगा. जिसे देखते हुए न्यूजीलैंड, न्यू कैलेडोनिया और वानुअतु के तटीय इलाकों से हजारों निवासियों को बाहर निकाल कर ऊंचे क्षेत्र में पहुंचाया गया है. फिलहाल भूकंप से किसी तरह की गंभीर क्षति या नुकसान की कोई खबर नहीं है. जानमाल को भी बड़ा नुकसान नहीं पहुंचा है.

हालांकि भूकंप के बाद नूमी में चेतावनी के तौर पर सायरन बजते हुए सुना गया. अधिकारियों ने डर के बीच लोगों को रिहायशी इलाके खाली करने के आदेश दिए. अधिकारियों ने कहा कि तीन मीटर (10 फीट) ऊंची की लहरें फ्रांसीसी क्षेत्र की ओर बढ़ रही थीं. वहीं आपातकालीन सेवा के प्रवक्ता एलेक्जेंडर रोसिग्नॉल ने सार्वजनिक रेडियो के हवाले से कहा, “सभी लोग समुद्र तट के इलाकों को तुरंत खाली कर दें, पानी में हो रही सभी गतिविधियों को रोक दें और अपने बच्चों को स्कूलों न भेजें.”

बता दें कि न्यूजीलैंड के उत्तरी द्वीप के हिस्सों में 8.1तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. इससे पहले उसी क्षेत्र में रिक्टर स्केल पर 7.4 और 7.3 तीव्रता के झटके महसूस किए जा चुके थे. इसके बाद सुनामी के चेतावनी का सायरन बजाया गया ताकि लोग सुरक्षित ऊंचे स्थान पर जा सकें. न्यूजीलैंड की राष्ट्रीय आपातकालीन प्रबंधन एजेंसी ने लोगों से तुरंत अनुरोध किया कि लोग अपने-अपने घरों को छोड़ दें. एजेंसी ने लोगों से अनुरोध किया कि जो भी लोग तटीय इलाकों में हैं, तुरंत अपने घर छोड़कर ऊंचे इलाकों में चले जाएं.

वहीं अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण’ के मुताबिक न्यूजीलैंड तट से 1000 किलोमीटर दूर सुबह 8.28 बजे (स्थानीय समयानुसार) भूकंप के झटके महसूस किए गए. प्रारंभिक तौर पर भूकंप की तीव्रता 6.9 मापी गई है और जिसका केंद्र जिस्बॉर्न शहर से लगभग 178 किलोमीटर (111 मील) दूर 10 किलोमीटर (छह मील) की गहराई में स्थित था.