PF खाताधारको के लिए EPFO की सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज़ ने 2020-21 के लिए 8.5 फीसदी ही ब्याज दर की सिफारिश करने का फैसला किया है. वित्त मंत्रालय की मंजूरी के बाद इस फैसले को लागू किया जाएगा. देश में करीब 5 करोड़ ईपीएफ के खाताधारक हैं, जिनको इस फैसले का फायदा मिलेगा. कोरोना काल के दौरान मुश्किल परिस्थितियों में सरकार ने 8.5 फीसदी की इंटरेस्ट पेमेंट सभी ईपीएफओ के 5 करोड़ खाताधारकों को दी थी.’

बता दें कि ये फैसला ऐसे वक्त पर किया गया है, जब अर्थव्यवस्था एक मुश्किल दौर से गुजर रही है और सरकार राजस्व जुटाने के नए रास्ते ढूंढ रही है. इस साल के आम बजट में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्माल सीतारमण ने PF खाताधारकों को ढाई लाख रुपये तक के सालाना अंशदान पर जो ब्याज मिलता है, सिर्फ उसे ही टैक्स से छूट देने का प्रस्ताव रखा है. इसके अलावा कोई भी हाई-इनकम PF खाताधारक, जिसका सालाना अंशदान ढाई लाख रुपये से ज्यादा है, उसे ब्याज से होने वाली आय पर टैक्स देना होगा.