यूपी के इटावा में सपा कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गई. हत्या से इलाके में सनसनी फैल गई ,पुलिस शव को कब्जे में लेकर जांच में जुटी हुई है, यह पूरा मामला जमीन से जुड़ा हुआ विवाद बताया जा रहा है, 2019 से चल आ रहा था विवाद, वही पुलिस अधिकारी का कहना है कि परिजनों ने कुछ नाम बताये है जिनके यह दविश शुरू कर दी गई है. 18 हजार वर्गफीट की जगज को लेकर विवाद चल रहा है एयर इस मामले में जल्द से जल्द कार्यवाही की जाएगी.

बता दें कि इटावा जिले के भर्थना थाना क्षेत्र के रहने वाले सपा नेता सरतार की आधा दर्जन हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी, सपा नेता घर से टहलने के लिए निकले हुए थे तभी हमलावरों ने घटना को अंजाम दिया. वही बताया जा रहा है कि जमीन के विवाद के चलते हत्या की गई है. जिसका विवाद 2019 से चल रहा है, वही घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस के आलाधिकारी समेत भारी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंच, और मामले की जांच में जुट गए, इस मामले की जानकारी लगते ही सपा जिलाध्यक्ष गोपाल यादव जिला अस्पताल मोर्चरी पर पहुंचे, वहीं इस घटना क्रम में म्रतक के बेटे ने सदर एसडीएम पर आरोप लगाये है.

म्रतक के बेटे ने बताया कि करीब आधा दर्जन लोग आकर पितजी को गोली मार कर चले गए पकड़ने का प्रयास किया था दो जगह को लेकर विवाद था. जिसमें एक कॉल स्टार्ट दूसरे में एक मकान को लेकर विवाद चल रहा था यह मामला 2019 से चला है और इस मामले में एसडीएम पूरी तरह से जिम्मेदार है क्योंकि इस मामले में कई बार जांच कराई गई, लेकिन एसडीएम ने मोटी रकम लेकर मामले को दबा दिया यह जमीन से जुड़ा मामला है करीब 18000 फीट से ऊपर का मामला है. मुकेश यादव प्रसपा पार्टी से संबंध रखते हैं और हमारे पिताजी सपा कार्यकर्ता हैं

वहीं इस मामले में अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि थाना भरथना के इंस्पेक्टर को सूचना मिली थी कि बालूगंज के रहने वाले सरतार सिंह को गोली मार दी गई है. पुलिस मौके पर पहुंची तो घायल अवस्था में प्राइवेट हॉस्पिटल ले गए हैं, जहां से उनको जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया है जहां पर उनकी मौत हो गई है. इस मामले में परिजन की तहरीर मिलने पर आरोपियों को गिरफ्तार कर सख्त सख्त कार्रवाई की जाएगी. पुलिस गहनता से जांच में जुटी हुई है.