मिर्जापुर के देहात कोतवाली क्षेत्र के नेवढ़िया गांव में कच्ची जहरीली शराब पीने से बीती रात चार लोगों की मौत हो गई, जिलाधिकारी समेत प्रशासनिक अमला गांव में पहुंचा. जहां दो लोगों का शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया , जबकि दो मृतकों का अंतिम संस्कार कर दिया गया. जिलाधिकारी ने कहा कि मौत के कारण का पता मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद ही लग पाएगा. एक दिन में चार मौत के पीछे का कारण तलाशने के लिए मजिस्ट्रियल जांच टीम बनाकर कार्रवाई की जाएगी.

बता दें कि देहात कोतवाली इलाके के देवरिया घाट इस गांव में सोमवार की सुबह होते ही खलबली मच गई, जिसने भी सुना वह पीड़ितों के परिवार को सांत्वना देने के लिए पहुंचने लगा. जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार पुलिस अधीक्षक अजय कुमार दल बल के साथ जहरीली शराब से मौत की सूचना मिलने पर गांव में पहुंचे. जिलाधिकारी ने कहा कि जानकारी मिली है कि मृतकों की तबीयत बिगड़ने पर उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उनका इलाज हुआ, इसके बाद उनकी मौत की खबर मिली है. उनकी मौत का कारण तलाशने के लिए शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है. डाक्टरों की टीम उनका पोस्टमार्टम करेगी. इसके अलावा मजिस्ट्रियल जांच का आदेश दिया गया है.

मृतक की पत्नी का कहना है कि गांव में ही अवैध जहरीली शराब बनाई जाती है इसे पीने के बाद उनके पेट में जलन और दर्द हो रही थी, उन्हें उनके साले ने अस्पताल में भर्ती कराया था पानी चढ़ा सुई लगा वह घर आए इसके बाद उनकी तबीयत बिगड़ी और मौत हो गई. बता दें कि चारों पीड़ित एक ही स्थान पर शराब पीने गए थे 2 लोगों के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया जबकि दो सब को पुलिस ने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है