भारत ने इंग्लैंड के बीच नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच को भारत ने इंग्लैंड को 10 विकेट से हराया. 4 टेस्ट मैचों की सीरज में भारत अब 2-1 से इंग्लैंड से आगे हो गया. भारतीय स्पिन गेंदबाजों ने टेस्ट मैच में कमाल की गेंदबाजी की और 19 विकेट लिए. भारत को जीत के लिए 49 रनों की जरूरत थी. रोहित और गिल ने मिलकर भारत को आसान जीत दिला दी. रोहित शर्मा 25 और गिल 15 रन बनाकर नाबाद रहे.

बता दें कि भारत को जीत के लिए 49 रनों की जरूरत थी. भारत ने 8वें ओवर में ही लक्ष्य को हासिल कर लिया. केवल 2 दिन में ही टेस्ट मैच खत्म हो गया. यहां पिच पूरी तरह से बल्लेबाजों के लिये कब्रगाह बनी. इंग्लैंड की तरफ से पहली पारी में कामचलाऊ ऑफ स्पिनर जो रूट ने आठ रन देकर पांच और बायें हाथ के स्पिनर जैक लीच ने 54 रन देकर चार विकेट लिये. भारत की पहली पारी 145 रन पर सिमट गई थी. इसके बाद भारत की तरफ से अक्षर ने 32 रन देकर पांच और अश्विन ने 48 रन देकर चार विकेट ली, वाशिंगटन सुंदर ने केवल चार गेंदे की और इनमें वह विकेट लेने में सफल रहे. इंग्लैंड की टीम दूसरी पारी में केवल 81 रन पर ही आउट हो गई.

इंग्लैंड ने भारत के खिलाफ अपना न्यूनतम स्कोर बनाया. इससे पहले का रिकार्ड 101 रन था जो उसने 1971 में ओवल में बनाया था. पहली पारी में छह विकेट लेने वाले अक्षर ने नयी गेंद संभाली और पहली गेंद पर जॉक क्राउली को बोल्ड करके उन्हें गलत लाइन पर खेलने सजा दी. वह पारी की पहली गेंद पर विकेट लेने वाले दुनिया के चौथे और अश्विन के बाद भारत के दूसरे स्पिनर बने. अक्षर डीआरएस के कारण अपनी हैट्रिक पूरी नहीं कर पाये लेकिन तीसरी गेंद पर जॉनी बेयरस्टॉ को बोल्ड करने में सफल रहे. उन्होंने पहली पारी की आखिरी गेंद पर विकेट लिया था.