26 जनवरी के दिन लाल किला पर हुई हिंसा का मास्टरमाइंड पूर्व गैंगस्टर लक्खा सिंह सिधाना ने 23 फरवरी को बठिंडा में प्रदर्शन का एलान किया है. लक्खा सिधाना गणतंत्र दिवस हिंसा मामले में दीप सिंह सिद्धू के बाद सबसे बड़ा आरोपी है. लक्खा सिंह सिधाना पिछले 25 दिनों से दिल्ली पुलिस को छका रहा है, लेकिन इस बार उसने पंजाब के नौजवानों से बठिंडा में 23 फरवरी को इक्ठा होने का ऐलान किया है.

हालाकि दिल्ली पुलिस ने आरोपी लक्खा सिधाना पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया हुआ है. पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए अलग-अलग जगहों पर छापेमारी कर रही है, लेकिन अभी तक कोई कामयाबी नहीं मिल पाई है. लक्खा पंजाब का गैंगस्टर है जिसने भड़काऊ भाषण देकर लोगों को उकसाया था. वो अभी लगातार फेसबुक पर एक्टिव है और अपनी पोस्ट करता रहता है.

बता दें कि वहीं दूसरी तरफ सोशल मीडिया पर सामने आए लक्खा सिधाना ने कहा 23 फरवरी को बड़ी संख्या में लाखों की संख्या में गिनती होनी चाहिए. लाखों की गिनती होनी चाहिए उस दिन. आओ मेरे भाईयों बड़ी संख्या में. बठिंडा जिले मेहराज पिंड में आओ उधर ही प्रदर्शन रखा गया है. आओ मेरे भाईयों बड़ी संख्या में कोशिश करें ताकि पता लगे कि हम किसान आंदोलन के साथ हैं

आपको बता दें कि पंजाब के भटिंडा में रहन वाला लाखा सिधाना अपराध की दुनिया का बड़ा नाम है. इसके ऊपर कई केस चल रहे हैं और पहले कई मामलों में गिरफ्तारी भी हो चुकी है. लाखा सिधाना का असली नाम लखबीर सिंह सिधाना है और वो कबड्डी का अच्छा खिलाड़ी था. लेकिन अपराध दुनिया मं पैर रखने के बाद उसने अपने नाम और शौक दोनों को छोड़ दिया. लाखा सिधाना अभी युवाओं को सरकार और सिस्टम के खिलाफ भड़काने का काम करता है. जानकारों के मुताबिक सिधाना चुनाव भी लड़ना चाहता है.