किसान ने बिजली विभाग का पंद्रह सौ रुपये बकाया बिल जमा नहीं किया तो उसके घर का कनेक्शन काट दिया गया. बिजली विभाग के अधिकारी किसान के घर पहुंचे और बकाया बिल जमा करने के लिये किसान को टॉर्चर करते हुऐ किसान के गाल पर थप्पड़ मार दिया और जेल भेजने की धमकी दी गई. थप्पड़ लगने से मायूस किसान ने बिजली विभाग के अधिकारियो के सामने ही अपने घर के कमरे मे फांसी का फंदा बनाकर आत्महत्या कर ली.

दरसअल उत्तर प्रदेश के जिला अलीगढ़ के बराला थाना इलाके के गांव सुनहरा के पचास वर्षीय रामजीलाल छोटे किसानो में शुमार थे. मृतक किसान रामजीलाल के ऊपर बिजली के घरेलू कनेक्शन का करीब पंद्रह सौ रूपये बिल बकाया था. जहा बिजली विभाग की लापरवाही के चलते डेढ़ लाख रूपये का बकाया बिल लेकर एसडीओ और जेई के साथ टीम शुक्रवार को घर पर पहुंच गई और किसान रामजीलाल के घर का कनेक्शन भी काट दिया था.

जिस पर मृतक रामजीलाल ने बिजली विभाग के कर्मचारियो से कहा कि हम पर केवल पंद्रह सौ रुपये बिजली के बकाया था. आरोप है कि इसी बात पर एसडीओ ने म्रतक किसान के गाल पर थप्पड़ मार दिया और जेल भेजने की धमकी दी. जिसके बाद इसी बात के डर से किसान ने घर के कमरे में बंद होकर फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली.

किसान की मौत से गुस्साए म्रतक के परिजनो सहित ग्रामीण मृतक के शव को लेकर बिजली घर पर पहुंच गये. जहा गुस्साए लोगों की मांग थी कि बिजली विभाग के अधिकारी एसडीओ और जेई के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज की जाये और म्रतक किसान के परिजनो को पच्चीस लाख का मुआवजा दिलाया जाये. सूचना मिलने पर एसडीएम अतरौली पंकज कुमार भी मौके पर पहुंच गये.